छेडछाड को लेकर दो पक्षों में जमकर पथराव व फायरिंग...पुलिस ने लाठियां फटकार कर भीड को किया तितर-बितर, पांच हिरासत में

मीरापुर। मीरापुर थानाक्षेत्रा के ग्राम भुम्मा में युवती से छेडछाड के बाद दो पक्षों में संघर्ष हो गया। दोनों ओर से कई राउंड फायरिंग व जमकर पथराव हो गया। पथराव से गांव में भगदड मच गयी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाठियां फटकार कर भीड को तितर-बितर किया तथा दोनों पक्षों के पांच लोगों को हिरासत में ले लिया। दोनों पक्षों में तनाव को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से गांव में पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। मीरापुर थानाक्षेत्र के गांव भुम्मा की दलित बस्ती में दलित नरेश व पाले के मकान बराबर-बराबर गली में है। आरोप है कि नरेश की पुत्राी के साथ कई दिनों से पाले का पुत्र आकाश छेडछाड कर रहा था, जिसकी सूचना युवती ने अपने परिजनों को दे दी थी। इसके बाद नरेश पक्ष ने युवक से ऐसा न करने को कहा, किन्तु युवक नहीं माना। शनिवार देर रात्रि नरेश की पुत्री दुकान पर कुछ सामान लेने जा रही थी, तभी आरोपी युवक आकाश ने उस पर छींटाकशी कर दी। युवती ने अपने घर जाकर इस बात की जानकारी दी, तो युवती पक्ष के लोगों ने आकाश के घर पहुंचकर उसके परिजनों से शिकायत की। आरोप है कि आकाश के परिजनों ने उल्टा युवती के परिजनों के आरोप को नकारते हुए उनसे अभद्रता व गाली-गलौच कर दी, जिसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी हो गयी तथा मामला बिगड गया तथा दोनों पक्षों के दर्जनों लोग हाथों में तमंचे लेकर आमने-सामने आ गये तथा हवाई फायरिंग शुरू कर दी, जिससे गांव में भगदड मच गयी। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया। पुरूषों के साथ-साथ महिलाएं भी पथराव में शामिल रही। फायरिंग व पथराव को लेकर गांव में अफवाह फैल गयी तथा लोग अपने-अपने घरों में जा दुबके। काफी देर तक दोनों पक्ष एक-दूसरे पर पथराव करते रहे। इसी बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी, तो इंस्पेक्टर मीरापुर अरविन्द कुमार सिंह पुलिस पफोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। इसी बीच डायल 100 की तीन गाडियां भी मौके पर पहुंच गयी। पुलिस के वहां पहुंचने के बाद भी दोनों पक्षों की ओर से पथराव जारी रहा। इस पर पुलिस ने सख्ती करते हुए लाठियां फटकारकर भीड को तितर-बितर किया। पुलिस ने दोनों ही पक्षों के घरों में दबिश दी। पुलिस ने दोनों पक्षों से नरेश, प्रवीण, लोकेश, ब्रजमोहन तथा अमित को हिरासत में ले लिया। समाचार लिखे जाने तक गांव में तनाव बना हुआ था तथा इंस्पैक्टर अरविन्द कुमार भारी पुलिस बल के साथ वहां मौजूद थे। सुरक्षा की दृष्टि से गांव में भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। इंस्पैक्टर अरविन्द कुमार ने कहा कि अभी मामले की कोई लिखा-पढी नहीं हुई है। उच्चाधिकारियों से बातचीत के बाद ही कार्यवाही की जायेगी।

Share it
Top