अचानक गिरी मकान की छत....मोरना कस्बे में हुआ हादसा, बाल-बाल बची मां व दूधमुंहा बालक

मोरना। डेढ वर्षीय बालक को स्तनपान करा रही महिला के ऊपर अचानक छत गिर गयी। महिला ने अपनी जान जोखिम में डालकर बच्चे की जान को बचा लिया, जबकि महिला गम्भीर रूप से घायल हो गयी। पीडित परिवार ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। जानकारी के अनुसार थाना भोपा क्षेत्र के ग्राम मोरना में राजू पुत्र मंजूर सोमवार को घर से बाहर गया हुआ था। राजू की 24 वर्षीय पत्नी गुडिया कमरे के भीतर डेढ वर्षीय पुत्र मौ. साद को स्तनपान करा रही थी कि अचानक छत में तेज आवाज हुई। गुडिया ने छत की कडियों को गिरते देखा, तो बच्चे को अपने नीचे कर लिया। छत की कडियां तेज आवाज के साथ गुडिया के ऊपर गिर गयी। घर में उपस्थित गुडिया की देवरानी सानिया ने ये मंजर देखा, तो उसने शोर मचाया तभी पडोस के नीरज कुमार, मीना, राजू, गुड्डू, नवाब आदि उधर दौडे तथा गुडिया को मलबे से बाहर निकाला, जहां डेढ वर्षीय मौ. साद को खरोच तक न आयी। वहीं गुडिया लहूलुहान हो गयी। बेहोश गुडिया को प्राईवेट चिकित्सक के यहां ले जाया गया, जहां उसका उपचार किया गया। मजदूरी का कार्य करने वाले राजू ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाते हुए कच्चे मकान को बनवाने की गुहार लगाई है।

Share it
Top