सभी अधिकारी क्षेत्रों में दिन-रात रहेंगे भ्रमणशील: डीएम...शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जायेगी: सेल्वा कुमारी जे.

मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने कहा कि कांवड यात्रा कुम्भ के पैटर्न पर शांतिपूर्ण एवं सद्भाव के वातावरण में सम्पन्न करानी है। श्रद्धांलुओं को जनपद की सीमा के अन्तर्गत किसी प्रकार की कठिनाई नहीं होने दी जायेगी। उन्होंने कहा कि सैक्टर मजिस्ट्रेट अपने से सम्बद्ध पुलिस अधिकारी के साथ अपने आवंटित क्षेत्र का भ्रमण कर यह सुनिश्चित करेंगे कि उनके रास्ते में कांवडियों को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत न हो। साफ-सफाई एवं स्वच्छता का भी निरीक्षण कर लें। उन्होंने बताया कि यह भी सुनिश्चित किया जाये कि शिविर संचालकों द्वारा कांवडियों की मदद के लिए लगाये गये शिविर सभी मानक एवं शर्ते पूर्ण करते हैं। यदि कोई कमियां हैं, तो उन्हें चिन्हित करें और पूर्ण करायें। सतत् भ्रमणशील रह कर जनपद से गुजरने वाले कांवडियों को कोई असुविधा न होने दे और स्वविवेक से निर्णय लेकर समस्या का त्वरित समाधान कराये।

जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. आज जिला पंचायत सभागार में कांवड यात्रा को शांतिपूर्ण एवं सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराने के लिए अधिकारियों के साथ बैठक कर रही थीं। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारी जिनकी ड्यूटी लगी है, अपने-अपने क्षेत्रों में दिन एवं रात्रि में भ्रमणशील रहकर निगरानी रखेंगे और मुख्यालय नहीं छोडेंगे, साथ ही मोबाईल फोन बन्द नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर मुख्यालय छोडने या मोबाईल बन्द मिला, तो कडी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि दो शिफ्टों में अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है। प्रात: 8 बजे से सायं 8 बजे तक एवं रात्रि 8 बजे से प्रात: 8 बजे तक सैक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट अपनी ड्यूटी कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि वह स्वयं भी निरीक्षण करेंगी। उन्होंने कहा कि कांवड़ के कार्य के प्रति संवेदनशील रहे और किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि शांति व्यवस्था सुनिश्चित करते हुए किसी आकस्मिक घटना की सूचना तत्काल अपने से सम्बन्धित प्रभारी अधिकारी को उपलब्ध करायेंगे।

जिलाधिकारी ने कहा कि अधिकारी अपने क्षेत्र में एम्बुलेंस की स्थिति, 102/108 कहां पर स्थित है तथा 100 डॉयल की लोकेशन का भी पता रखे। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्रा में साफ-सफाई के लिए नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी और जिला पंचायत के एएमए का भी नम्बर रखना सुनिश्चित करें। पेयजल की समस्या आने पर अधिशासी अभियंता जल निगम से सम्पर्क कराना सुनिश्चित करें। मेडिकल चिकित्सा सुविधा के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी का भी नम्बर अपने पास रखा जाये। यदि उनके कहने पर कार्य पूर्ण नहीं हो रहा है, तो इसकी सूचना कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराई जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि अपना सूचना तंत्रा मजूबत रखे और अपने उच्चाधिकारियों के संज्ञान में छोटी-से-छोटी जानकारी को भी साझा करें। यदि कही बिजली के तार ढीले हैं, तो उन्हें कसवाने के लिए सहायक निदेशक विद्युत सुरक्षा/अधिशासी अभियंता विद्युत के संज्ञान में लाये।

जिलाधिकारी ने कहा कि ड्यूटी को जिम्मेदारी के साथ अलर्ट रहकर निभायें, तथा अपना व्यवहार भी मधुर रखें। सभी ढाबों की चेकिंग करें कि निर्धारित रेट लिस्ट के अनुसार ही कांवडियों से रेट लें, ढाबों पर रेट लिस्ट अवश्य टंगी रहनी चाहिये। उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित कराया जाये कि सभी खाद्य पदार्थ मानकों के अनुसार बने और पॉलिथीन और प्लास्टिक का प्रयोग न किया जाये। जिलाधिकारी ने कहा कि किसी कांवडिये की आकस्मिक रूप से बीमार होने की दशा पर एम्बुलैंस से अस्पताल तक पहुंचाने की व्यवस्था तत्काल कराई जाये। उन्होंने कहा कि जिले में चिकित्सा शिविर पर्याप्त मात्रा में लगाये जायेंगे, सभी शिविरों में चिकित्सक उपस्थित रहेंगे तथा सभी जीवन रक्षक दवाईयां पर्याप्त मात्रा उपलब्ध रखी जायेंगी। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन होटल, ढाबों की चैकिंग और उस पर रेट लिस्ट चस्पा होनी चाहिए। इसके लिए भी पर्याप्त सर्तकता बरती जाये, जिससे कोई दुर्घटना घटित न हो। उन्होंने कहा कि समस्त मजिस्ट्रेट/अधिकारी अपने मोबाईल 24 घण्टे खुले रखेंगे।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव, मुख्य विकास अधिकारी अर्चना यादव, मुख्य चिकित्साधिकारी पीएस मिश्रा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, पुलिस अधीक्षक शहर, नगर मजिस्ट्रेट सहित सभी सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे।

Share it
Top