कालेज अध्यक्ष की तानाशाही को लेकर छात्रों ने लगाया जाम, मुजफ्फरनगर-बुढाना मार्ग पर कई घण्टे लगा रहा जाम, पुलिस ने लाठियां फटकार कर जाम खुलवाया, कालेज अध्यक्ष को लिया हिरासत में

शाहपुर। राष्ट्रीय इंटर कालेज की प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष राहुल सिंह कुटबी द्वारा कई दिन से छात्रों के बाल काटने व शनिवार को कालेज में होने वाली सुबह की प्रार्थना के दौरान छात्रों के माता पिता के प्रति अशोभनीय टिप्पणी किये जाने से आक्रोशित छात्र-छात्राओं ने मुजफ्फरनगर बुढ़ाना मार्ग पर जाम लगा दिया। छात्र-छात्राओं की मांग थी कि कॉलेज के अध्यक्ष को गिरफ्तार कर प्रबन्ध समिति को बर्खास्त किया जावें। जाम के दौरान छात्र अध्यक्ष के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी करते रहे। जाम की सूचना पर पँहुचे थाना प्रभारी केपी सिंह ने छात्र छात्राओं को समझाने का प्रयास किया, परन्तु छात्र किसी भी बात को सुनने के लिए तैयार नही थे। छात्र अपनी मांग पर अडिग हो जाम लगाए रहे। थाना प्रभारी ने जाम की सूचना आलाधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही एसपी देहात आलोक शर्मा, एसडीएम बुढ़ाना कुमार भूपेंद्र सिंह एसीओ फुगाना कालूराम व कईं थानों की फोर्स मौके पर पहुंची तथा जाम लगा रहे छात्र छात्रओं को समझाने की भरसक कोशिश करते रहे। एसपी देहात ने छात्र-छात्राओं को बताया कि प्रबंध समिति अध्यक्ष राहुल सिंह कुटबी को हिरासत में ले लिया गया है तथा प्रबन्ध समिति को बर्खास्त करने के लिए जिलाधिकारी को कहा गया है। छात्र एसपी देहात की बात सुनने को तैयार नहीं थे। आलाधिकारियों ने छात्रों के आक्रोश को देखते हुए कालेज अध्यक्ष राहुल सिंह कुटबी को हिरासत में लेकर कालेज के पीछे वाले दरवाजे से थाने ले गई। आलाधिकारियों ने जाम ना खुलते देख जाम लगा रहे छात्र-छात्राओं को लाठियां फटकार कर भगाया। भागते हुए छात्रों को पुलिस ने पीछा करते हुए लाठिया भी मारी। इस दौरान भगदड़ मच गई। पुलिस ने तीन घण्टे तक जाम में फंसे वाहनों को निकलवाया।

कई दिन से काटे जा रहे थे बाल

जाम लगा रहे छात्र चिल्ला चिल्लाकर कालेज के अध्यक्ष पर आरोप लगा रहे थे पिछले चार दिन से स्कूल में आने वाले छात्रों को जबरदस्ती पकड़कर बालों को कैंची से काटा जा रहा था, जिससे उन्हें हेयर सेलून पर बाजार में जाकर सिर पर मशीन चलवाकर गंजा होना पड़ रहा था। परन्तु आज सुबह हुई प्रार्थना में माता पिता के प्रति अशोभनीय टिप्पणी की गई।

प्रधानाचार्य ने बाल काटे जाने को अनुशासन बताया

राष्ट्रीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य वीरेंद्र सिंह ने स्कूली बच्चों के बाल काटने को अनुशासन बताते हुए अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ दिया।

जाम के दौरान अधिकारियों को आया पसीना

राष्ट्रीय इंटर के बाहर मुजफ्फरनगर बुढाना मार्ग पर लगे जाम को खुलवाने के लिए मौके पर पँहुचे अधिकारियों को जाम ना खुलते देख पसीना पसीना हुए दिखाई दिए। तीन घण्टे तक जाम ना खुलते देख अधिकारियों को लाठियां फटकार कर जाम खुलवाना पड़ा।

जाम के दौरान दोनों ओर वाहनों की लंबी-लंबी लाइन लग गई।

जाम में फंसे रहे स्कूली वाहनत्न जाम के दौरान स्कूल से छुट्टी होने के बाद स्कूली वाहन जाम में फंसे रहे। जाम में फंसे बच्चे गर्मी व भूख प्यास से तिलमिलाते रहे।

समय रहते यदि पुलिस कार्रवाई करती तो ना लगता जाम

जाम लगा रहे छात्रों का आरोप था कि चार दिन पूर्व जब कालेज के अध्यक्ष द्वारा उनके बालों को कैंची से काटा गया था तो उन्होंने थाने जाकर पुलिस को सूचना दी थी, परन्तु पुलिस ने उनकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की, जिससे उसने रोजाना बाल काटने का सिलसिला जारी रखा तथा आज उनके माता पिता के प्रति अशोभनीय टिप्पणी भी कर डाली।

जिला विद्यालय निरीक्षक ने अपने को मीटिंग में बताया

राष्ट्रीय इंटर कालेज के छात्रों के साथ चार दिन से बाल काटे जाने व प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष द्बारा उनके माता पिता के प्रति अशोभनीय टिप्पणी करने से आक्रोशित छात्रों द्वारा जाम लगाने की सूचना के बारे में जब फोन पर बात की तो उन्होंने अपने को मीटिंग में बताकर फोन स्रद्मङ्क दिया।

Share it
Top