Read latest updates about "धर्म" - Page 1

  • सुख-समृद्धि का प्रतीक हैं ये तीन पौधे

    अधिकतर सभी घरों में छोटे बड़े पेड़-पौधे होते हैं, ये पौधे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं। वास्तुशास्त्र में कुछ पौधो को घर में लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है। ये माना जाता है कि अगर ये पौधे घर में हो तो घर नकारात्मक ऊर्जा से दूर रहता है और घर के सदस्यों में आपस में प्रेम बना रहता है। हम...

  • धर्म संस्कृति: रावण के दस सिर और मृत्यु का रहस्य

    रामायण के दो प्रमुख पात्र हैं, राम और रावण। राम मानव और रावण दानव हैं। राम का नाम सुनने से श्रद्धा भाव उत्पन्न होता है और रावण का नाम सुनने से अश्रद्धा का। राम अयोध्या के शासक थे और रावण लंका का शासक। दशहरा का दिन विजयोत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन रावण दहन का जहां भी आयोजन होता है, अपार...

  • पर्यटन/धर्मस्थल: झीलों का नगर है भोपाल

    भारत के हृदय स्थल मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल कई मायनों में सबसे अलग पहचान रखती है। ताल तलैयों और झीलों के इस खूबसूरत शहर की हरियाली मानों प्रकृति ने उपहार के रूप में प्रदान की हो। 11वीं सदी में राजा भोज द्वारा बनाई गई इस नगरी ने कई ऐतिहासिक, सामाजिक और राजनीतिक उतार चढ़ाव लगातार देखे हैं। पुराने...

  • गुरु का ज्ञान, बिना जल का स्नान

    इस संसार की सभ्यता तथा संस्कृति का इतिहास जितना पुराना है उतना ही पुराना है शिक्षा एवं गुरुओं का इतिहास। शिक्षा के इतिहास के साथ जुड़ी हैं शिक्षक-शिक्षा की परंपराएं। जिस प्रकार जल से स्नान करने पर शरीर के समस्त विकार धुल जाते हैं उसी प्रकार गुरु के उपदेश से मनुष्य के बाह्य एवं अभ्यान्तर समस्त दोष...

  • पर्यटन/धर्मस्थल: लाखों भक्तों की आस्था का केंद्र-वैष्णो देवी

    कलयुग में पूजे जाने वाले देवी- देवताओं में शाक्त संप्रदाय की अपनी अलग महत्ता है। शक्ति की पूजा विविध रूपों में की जाती है। उस में से एक तो वे स्थान अत्यंत महत्त्वपूर्ण हैं जहां देवी सती के विष्णु जी द्वारा अपने सुदर्शन चक्र से टुकड़े किये जाने के फलस्वरूप अंग गिरे थे। जहां-जहां सती के अंग गिरे थे,...

  • इन मंत्रों का प्रतिदिन जाप करने से व्यक्ति का जीवन रहता है खुशहाल

    हिंदू धर्म में मंत्रों को बहुत महत्व दिया जाता है, शास्त्रों के अनुसार अगर मंत्रों का उच्चारण सही तरीके से किया जाए तो इससे व्यक्ति के अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। हम आपको यहां पांच सबसे लोकप्रिय और शक्तिशाली हिंदू मंत्रों के बारे में बता रहे हैं, जिनका जाप करने से व्यक्ति का मन शांत रहता...

  • ऐसे होता है कुंभ में आने वाले साधुओं का श्रृंगार, लोग देखकर रह जाते हैं दंग

    प्रथम शाही स्नान के साथ प्रयागराज में कुंभ मेला प्रारंभ हो चुका है। कुंभ मेले का देशी और विदेशी मेहमानों को बेसब्री से इंतजार होता है। यहां आने वाला हर व्यक्ति कुंभ के रंग में रंगा नजर आता है, जहां एक ओर कुंभ मेले में आयोजित होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम यहां आने वाले देशी और विदेशी सैलानियों के...

  • इस मंदिर में उल्टा स्वास्तिक बनाने से होती हैं सभी मनोकामनाएं पूरी

    भगवान गणेश को विघ्नहर्ता कहा जाता है और इसी कारण किसी भी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले उनकी पूजा की जाती है। जिससे काम में कोई बाधा उत्पन्न न हो और कार्य निर्विघ्न संपन्न हो। भारत में भगवान गणेश के बहुत से मंदिर हैं जो भक्तों के लिए आस्था का प्रमुख केंद्र हैं। हम आपको यहां भगवान गणेश के एक खास...

  • घर में रखी हुई चीजों का वास्तु से गहरा संबंध..

    घर में रखी हुई चीजों का वास्तु से गहरा संबंध होता है, कुछ चीजें ऐसी होती हैं जिन्हें घर में रखने से नकारात्मकता आती है और कुछ चीजों को सकारात्मकता का प्रतीक माना जाता है। जो चीजें सकारात्मकता का प्रतीक होती हैं अगर उन्हें घर में रखा जाए तो इससे घर का वास्तु सही रहता है और व्यक्ति को हर काम में...

  • जब बात लग जाए: तुलसीदास रामभक्त बन गये

    गोस्वामी तुलसीदास अपनी युवावस्था में अपनी पत्नी के रूप सौंदर्य पर पूरी तरह आसक्त थे। वे पल भर के लिए भी उसका वियोग सह नहीं सकते थे। एक बार उनको बिना बताए उनकी पत्नी रत्नावली जो स्वयं विदुषी थीं अपने मायके चली गई। जब तुलसीदास लौट कर घर आये तो पत्नी को न पाकर व्यथित हो गए। जब उन्हें पता चला कि...

  • पर्यटन: सप्तऋषि आश्रम

    हरिद्वार भारत का प्रमुख तीर्थ स्थान है जो मठों, मन्दिरों, आश्रमों, धर्मशालाओं, पुलों, घाटों सहित पतित पावनी भागीरथी गंगा व शिवालिक पर्वत श्रंृखलाओं आदि के कारण आस्तिकों के आकर्षण का मुख्य कारण है। भारत के अन्य भागों की झुलसाने वाली गर्म हवाएँ भी पर्यटकों को लू से निजात पाने हेतु भागीरथी गंगा की सैर...

  • मकर संक्रांति पर सूर्यदेव को काले तिल करें अर्पित, शनिदेव खोल देंगे धन के भंडार

    मकर संक्रांति पर तिल को बहुत महत्व दिया जाता है, इस दिन अगर तिल का दान किसी भी रूप में किया जाए तो इससे व्यक्ति को विशेष फल की प्राप्ति होती है। दान के साथ ही इस दिन सूर्यदेव की पूजा में तिल को ​सम्मिलित किया जाता है। मकर संक्रांति पर सूर्यदेव की तिल से पूजा क्यों की जाती है। इसके पीछे श्रीमद्भागवत...

Share it
Top