Read latest updates about "धर्म" - Page 1

  • जानिये आपके शरीर का तिल आपके व्यक्तित्व के बारे में क्या कहता है..

    शरीर पर तिल होना एक सामान्य बात हैं। अधिकाशंत: सभी व्यक्तियों के शरीर पर एक ना एक तिल या मस्सा होता ही है। सामान्य सी बात होने के कारण हम अक्सर इस पर ध्यान नहीं देते हैं। ज्योतिष शास्त्र का एक महत्वपूर्ण अंग सामुद्रिकशास्त्र है। इस शास्त्र में शरीर के विभिन्न अंगों पर तिल होने पर प्राप्त होने वाले...

  • तुलसी के कुछ टोटके हैं जो बड़े काम के..

    अनेक बीमारियों को जड़ से मिटाने वाली तुलसी को हिंदू धर्म में बहुत महत्व दिया गया है, ये माना जाता है कि जिस घर में तुलसी का पौधा होता है उस घर से नकारात्मक शक्तियां बहुत दूर रहती हैं। तुलसी के कुछ टोटके भी हैं जो बड़े काम के होते हैं, इन्हें अपनाकर व्यक्ति कई तरह की समस्याओं से छुटकारा पा सकता है।...

  • अगर आपके भी पैरों की बनावट हैं कुछ ऐसी तो आप भी हो सकते हैं भाग्यशाली

    भविष्यफल जानने की अनेक विद्याओं का वर्णन ज्योतिष शास्त्र और सामुद्रिक शास्त्र के ग्रंथों में किया गया है। सामुद्रिक शास्त्र अपने आप में एक बहुत बड़ा और उपयोगी शास्त्र है। यह शास्त्र स्वयं में फलादेश की अनेक विद्याएं समाहित किए हुए हैं। इस शास्त्र के माध्यम से शरीर के अंगों के आधार, रुप-रंग, आकार और...

  • धन और सेहत में लाभ के लिए अपनाएं ये उपाय

    किसी भी घर में धन-धान्य आने का प्रतीक तो यही है कि घर में बेबात तनाव न हो। परिवार का हर सदस्य अपने-अपने काम में लगा हो। स्वस्थ-प्रसन्न हो। घर इतना दमकता हो कि बीमारियां पास न फटकें। घर में इतना धन हो कि सबकी जरूरतें पूरी हों और किसी बुरे वक्त के लिए पर्याप्त बचत भी हो। घर में सम्पन्नता आने का अर्थ...

  • ऐसे किया जाता है छठ महापर्व का व्रत..

    चैत्र शुक्ल पक्ष की षष्ठी चैती छठ और कार्तिक शुक्ल पक्ष की षष्ठी को कार्तिकी छठ कहा जाता है। यह पर्व सूर्यदेव की उपासना के लिए प्रसिद्ध है। मान्यता है कि छठ देवी सूर्यदेव की बहन है। इसलिए छठ पर्व पर छठ देवी को प्रसन्न करने हेतु सूर्य देव को प्रसन्न किया जाता है। गंगा-यमुना या किसी भी नदी, सरोवर के...

  • अध्यात्म: क्या गुरु बिना जीवन व्यर्थ है?

    कहते हैं कि हर व्यक्ति के जीवन का कोई न कोई उद्देश्य अवश्य होता है और यदि यह सच है तो फिर कोई भी जीवन व्यर्थ नहीं है। लुट पिट कर भी, असफल हो कर भी कोई जीवन व्यर्थ नहीं जाता। लुट पिटने वाला, असफल होने वाला, दुष्ट-दुराचारियों के हाथों मारा जाने वाला व्यक्ति अन्यान्य हजारों लाखों लोगों की आंखें खोलकर...

  • पर्यटन/धर्मस्थल: दर्शनीय श्री रामेश्वरम् धाम

    धर्मप्राण भारत में प्राचीनकाल से ही तीर्थों की स्थापना की परंपरा रही है। इसी परंपरा के अनुसार विशाल भारत देश को एकता-सूत्र में बांधे रखने के लिये परम पवित्र चार धामों की स्थापना चार दिशाओं में की गई है। उत्तर में हिमालय की गोद में बदरीनाथ, पश्चिम में द्वारिकापुरी, पूरब में जगन्नाथ पुरी तथा सुदूर...

  • शिवपुराण को पढ़ने के दौरान बरते ये सावधान‍ियां..

    ज्योतिष के अनुसार सोमवार के दिन भगवान शंकर की पूजा का विधान रहता है। इस दिन लोग भोलेनाथ के खुश करने के लिए इनका व्रत-पूजन करते हैं। लेकिन कई बार कुछ लोगों से इनके पूजन आदि में एेसी कई तरह की गलतियां कर बैठते हैं, जिस कारण उन्हें कई बार शुभ की जगह अशुभ फल प्राप्त होते हैं। वैसे तो शिव से संबंधित...

  • जिस घर में इस कोने पर गंदगी पाई जाती हो वहां पर कभी पैसा नहीं टिक पाता..

    वास्तु का मानव जीवन से बहुत गहरा संबंध है। माना जाता है कि वास्तु हर तरह से व्यक्ति के ऊपर अपना प्रभाव डालता है। अगर व्यक्ति के घर में किसी संबंधी भी वास्तु दोष उत्पन्न हो जाता है तो उसके जीवन की नैय्या डोलने लगती है। कहने का भाव यह है कि अगर इंसान के जीवन पर वास्तु दोष का साया पड़ जाए तो उसे कई...

  • कपूर में होती हैं ये शक्तियां..

    ज्योतिष की मानें तो कपूर जलाने से देव दोष व पितृ दोष का शमन होता है। अक्सर लोग शिकायत करते हैं कि हमें शायद पितृ दोष है या काल सर्प दोष है। दरअसल, यह राहू और केतु का प्रभाव मात्र है। इसे दूर करने के लिए घर के वास्तु को ठीक करें। प्रतिदिन सुबह, शाम और रात्रि को तीन बार घी में भिगोया हुआ कपूर जलाएं।...

  • भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक है भाईदूज

    भाई-बहन के अटूट प्रेम और स्नेह के प्रतीक का पर्व 'भैयादूज' को बहनें अपने भाइयों के स्वस्थ तथा दीर्घायु होने की प्रार्थना करती हैं। भाईदूज का त्योहार कार्तिक मास की द्वितीया को मनाया जाता है। भाईदूज का त्योहार भाई बहन के स्नेह को दृढ़ करता है। यह त्योहार दिवाली के दो दिन बाद मनाया जाता है।...

  • धनवान बनना चाहते हैं तो इन बातों का रखें ध्यान..

    हर किसी की ये चाह होती है कि वह धनवान हो और ऐशो आराम से जिंदगी बिता सके। लेकिन कई बार व्यक्ति को पूरे प्रयास करने के बाद भी धन की प्राप्ति नहीं होती है। ऐसा कई बार उसके द्वारा की जा रही गलतियों के कारण होता है। व्यक्ति बार -बार गलतियां करता रहता है और ये वास्तुदोष का कारण बन जाता है। वहीं अगर...

Share it
Top