Read latest updates about "धर्म-दर्शन" - Page 3

  • मानव जीवन के कुशल चितेरे तुलसीदास

    रामभक्त इतिहासकार , कुशल राजनीति मर्मज्ञ, मानवीय संवेदनाओं के सूक्ष्म विश्लेषक, काव्यकला पारंगत महामना तुलसी दास का जिस समय आविर्भाव हुआ, उस समय भारतीय जनमानस की स्थिति अत्यंत शोचनीय और दुखद थी। अधिकतर जनमानस वैभव हीन और मुस्लिम आक्रांन्ताओं के जुल्मों से त्रस्त और पराज्य-भावनाग्रसित था। उसे उस...

  • ऐसे लोगों के घर कभी नहीं आतीं लक्ष्मी, हमेशा रहती है पैसों की तंगी

    शास्त्रों के अनुसार मां लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है और जिस किसी पर अपनी कृपा बरसाती हैं उस व्यक्ति का जीवन बहुत आराम और सुख से बीतता है। मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए हमें कठोर परिश्रम के साथ-साथ अपने आचार-विचार और रहन-सहन में भी बहुत कुछ बदवाल करने की आवश्यकता होती है। आइए जानते हैं कुछ...

  • हर समस्या का होगा समाधान, आज ही आजमाएं ये 5 उपाय

    आज की तारीख में हर कोई किसी न किसी समस्या से जूझ रहा है। हर कोई चाहता है कि इन समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द हो जाए, ताकि जिंदगी एक बार फिर से पटरी पर आ सके। आज हम आपको कुछ उपाय बताएंगे, जिसे करने के बाद आपकी हर समस्या का समाधान हो जाएगा... 1. सुबह जल्दी उठकर स्नान-ध्यान करने के बाद पीपल...

  • रक्षाबन्धन विशेष: कर्तव्य का प्रतीक-रक्षा बन्धन

    तैंतीस करोड़ देवी देवताओं को पूजने वाले हमारे महान धार्मिक देश भारत में त्यौहारों का विशेष महत्त्व है। त्यौहार हमें कुछ समय के लिये अपने भेदभाव को भूलकर प्रेम के रंग में रंग देते हैं। त्यौहारों से हम सभी एकता के सूत्र में आबद्ध होते हैं। त्यौहार हमारे लोक जीवन का एक इतना जरूरी हिस्सा हैं कि संकट...

  • सुबह छह बजे बाद दिनभर बांधी जा सकेगी राखियां

    गुरुवार को आजादी के पर्व के साथ रक्षाबंधन पर्व भी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। बहने भाईयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधेगी तो भाई बहन की रक्षा का संकल्प लेगा। आचार्य पंडित अभिमन्यू पाराशर ने बताया कि गुरुवार को सायंकाल 5 बजकर 59 मिनट तक पूर्णिमा तिथि होने से रक्षाबंधन का त्यौहार पूरे दिन...

  • कष्टकारी होता है साढ़े साती शनि

    शनि ग्रह के संबंध में लोगों के मन में अनेक प्रकार की भ्रांतियां देखने को मिलती हैं। प्राय: सभी अशुभ फल के लिए शनि को ही दोषी ठहराया जाता है। शनि सौर मंडल का सबसे धीमा ग्रह है जिसे पूरे राशि चक्र में भ्रमण करने में लगभग तीस वर्ष का समय लगता है। इस तरह शनि एक राशि में करीब ढाई वर्ष भ्रमण करता है। ...

  • पर्यटन/धर्मस्थल: श्रद्धा का केन्द्र - हजूर साहिब, नांदेड़

    कहा जाता है कि जब गुरु गोबिंदसिंह जी के अपने पिता और चारों बेटे देशधर्म के लिए शहीद हो गए, तब वे लोकहित में गोदावरी नदी के किनारे बसे नगर नांदेड़ पहुँचे। नांदेड़ में गुरुजी ने लीलाएँ रची। यहाँ आपने गुरुद्वारा नगीना घाट से तीर चलाकर पूर्व गुरुओं के समय का तप-स्थान प्रगट किया। तीर एक मस्जिद में जा...

  • दुनिया का प्राचीनतम काव्य है ऋग्वेद

    -हृदयनारायण दीक्षित ऋग्वेद दुनिया का प्राचीनतम काव्य है और प्राचीनतम ज्ञानोदय। लेकिन इसके रचनाकाल पर यूरोपीय दृष्टिकोण वाले विद्वानों के कारण बहस चलती है। मैक्समूलर के अनुसार ऋग्वेद ईसा से 1200-1000 वर्ष पूर्व की रचना है। 'हिस्ट्री आफ एन्शिययेन्ट संस्कृत लिटरेचर' (1959) में उन्होंने समूचे वैदिक...

  • हमीरपुर : गौरीशंकर बाबा मंदिर में छिपा है सैकड़ों साल का इतिहास

    हमीरपुर। हमीरपुर से यमुना नदी पार 10 किमी दूर बीबीपुर गांव में गौरीशंकर बाबा मंदिर में सैकड़ों सालों का इतिहास छिपा है। मंदिर में शिवलिंग के गर्भ से 30 फीट गहराई में बनी सुरंग आसपास के कई मंदिरों को भी जोड़ती है। मंदिर के गर्भ के अंदर जमीनी खजाना आज भी कहीं छिपा है, जिसकी सुरक्षा काले सर्प करते हैं।...

  • शिव जी का चाहिये साथ तो करें ये उपाय

    सावन का महीना खत्म होने को है। 11 अगस्त को सावन का अंतिम सोमवार है। उस दिन शिव भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए पूजा-पाठ करेंगे। महीने के अंत में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जायेगा। इस बार 15 अगस्त को सावन पूर्णिमा है और इसी दिन रक्षाबंधन का त्यौहार मनाया जायेगा और इसी के साथ सावन का पावन...

  • हस्तिनापुर जो द्रोपदी के श्राप से आज तक मुक्त नहीं हो पाया!

    मेरठ। मेरठ के निकट हस्तिनापुर कभी पांडवों की राजधानी थी। कौरवों और पांडवों के कई महल और मंदिरों के अवशेष यहां मिलते हैं। हस्तिनापुर में ही पांडवों के सबसे बड़े भाई युधिष्ठिर जुए में द्रोपदी सहित अपना सब कुछ हार गए थे। पौराणिक कथा अनुसार गंगा की बाढ़ के कारण यह नगर पूरी तरह से तबाह हो गया था। उसके...

  • राशि अनुसार जानें किस रंंग की राखी आपके भाई के लिए होगी शुभ..जानें

    राखी के त्योहार में चंद दिन ही बचें हैं। ऐसे में हर बहन अपने भाई के कलाई को सजाने के लिए अभी से राखी की तैयारी करनी शुरू कर दी है। इस साल रक्षाबंधन का त्योहार 15 अगस्त को मनाया जाएगा। इस दिन हर बहन भाई के कलाई पर राखी बांधकर लंबी उम्र की कामना करती हैं। ऐसे में आपको बताने जा रहे हैं राशि के अनुसार...

Share it
Top