रोते हुये आते है सब हंसता हुआ जो जायेगा..

रोते हुये आते है सब हंसता हुआ जो जायेगा..

मुंबई। बॉलीवुड की सुपरहिट फिल्म जंजीर में अमिताभ बच्चन को प्रकाश मेहरा ने एक रुपया साइनिंग अमाउंट दिया था। वर्ष 1973 में प्रदर्शित इस फिल्म से अमिताभ बच्चन एंग्री यंग मैन और सुपरस्टार बनकर उभरे। 13 जुलाई 1939 को उत्तर प्रदेश के बिजनौर में जन्मे प्रकाश मेहरा अपने करियर के शुरूआती दौर में अभिनेता बनना चाहते थे। साठ के दशक में अपने इसी सपने को साकार करने के लिये वह मुंबई आ गये। उन्होंने अपने करियर की शुरूआत बतौर उजाला और प्रोफेसर जैसी फिल्मों में काम करने से किया। वर्ष 1968 में प्रदर्शित फिल्म हसीना मान जायेगी बतौर निर्देशक प्रकाश मेहरा की पहली फिल्म थी। इस फिल्म में शशि कपूर ने दोहरी भूमिका निभाई थी। वर्ष 1973 में प्रदर्शित फिल्म जंजीर न सिर्फ प्रकाश मेहरा साथ ही अमिताभ के करियर के लिये मील का पत्थर सबित हुयी। बताया जाता है धर्मेन्द्र और प्राण के कहने पर प्रकाश मेहरा ने अमिताभ को जंजीर में काम करने का मौका दिया और साइंनिग अमाउंट एक रुपया दिया था। प्रकाश मेहरा अमिताभ को प्यार से लल्ला कहकर बुलाते थे। जंजीर की सफलता के बाद अमिताभ और प्रकाश मेहरा की सुपरहिट फिल्मों का कारंवा काफी समय तक चला। इस दौरान लावारिस, मुकद्दर का सिकंदर, नमक हलाल, शराबी, हेराफेरी जैसी कई फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर सफलता का परचम लहराया।

Share it
Share it
Share it
Top