'मर्द को दर्द नहीं होता' का टाेरंटो फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शन

मर्द को दर्द नहीं होता का टाेरंटो फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शन

टोरंटो मुंबई के निर्देशक वासन बाला की फिल्म 'मर्द को दर्द नहीं होता' का टोरंटो फिल्म फेस्टिवल के मिडनाइट मैडनेस वर्ग में शुक्रवार की रात प्रदर्शन किया गया।

'द मैन हू फील्स नो पेन' अंग्रेजी टाइटिल वाली यह फिल्म 70 और 80 के दशक में मार्शल आर्ट पर आधारित एक्शन कॉमेडी से भरपूर है। फिल्म की अवधि 134 मिनट है और इसका फिल्मांकन मुंबई में किया गया। फिल्म की कहानी एक युवक पर पर आधारित है , जिसे एक ऐसी बीमारी है जिसमें उसे किसी प्रकार की पीड़ा नहीं होती।

वासन ने कहा, ''टोरंटो फिल्म फेस्टिवल के मिडनाइट मैडनेस खंड में इस फिल्म काे प्रदर्शित किया गया जो आश्चर्यजनक है। मेरे लिये यह किसी सपने का सच होने जैसा है।''

मिडनाइट मैडनेस कार्यक्रम के तहत विशेष प्रकार की कहानी वाली फिल्मों चयन किया जाता है और इन फिल्माें का प्रदर्शन आधी रात में किया जाता है। पिछले वर्ष भूत प्रेम वाली कई फिल्मों को इस कार्यक्रम में शामिल किया गया था जो टोरंटो फिल्म फेस्टिवल में दर्शकों को आकर्षित करने का केंद्र रहा।

Share it
Top