शुरूआती दौर में दक्षिण भारतीय सिनेमा में असहज थी अमायरा दस्तूर

शुरूआती दौर में दक्षिण भारतीय सिनेमा में असहज थी अमायरा दस्तूर

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेत्री अमायरा दस्तूर का कहना है कि शुरूआती दौर में वह दक्षिण भारतीय सिनेमा में खुद को असहज महसूस कर रही थीं। अमायरा ने वर्ष 2013 में प्रदर्शित फिल्म इसाक से बॉलीवुड में अपने करियर की शुरुआत की थी और 2015 में वह फिल्म अनेगन से दक्षिण भारतीय फिल्म उद्योग का हिस्सा बनीं। बॉलीवुड और दक्षिण भारतीय सिनेमा में फर्क को लेकर अमायरा ने कहा कि दोनों में केवल भाषा का अंतर है। अमायरा ने कहा जब मैंने दक्षिण भारतीय सिनेमा में अपनी पहली फिल्म की शूटिंग शुरू की थी, तब मैं खुद को थोड़ा अलग-थलग महसूस कर रही थी, क्योंकि फिल्म से जुड़े सभी लोग तमिल थे इसलिए वे मुख्य तौर पर तमिल में ही बात कर रहे थे और मुझे उसमें एक भी शब्द समझ नहीं आ रहा था। लेकिन धीरे-धीरे वे मुझसे सहज हो गए और उन्होंने मुझे अपनी बातचीत में शामिल किया, जिससे मैं भी सहज महसूस करने लगी।

Share it
Top