ग्रेटर नोएडा: ग्रामीणों ने खुद ढाबा पर पकड़ी अवैध शराब, आरोपी फरार

ग्रेटर नोएडा: ग्रामीणों ने खुद ढाबा पर पकड़ी अवैध शराब, आरोपी फरार

ग्रेटर नोएडा। रबूपुरा क्षेत्र में अवैध शराब की बिक्री रोकने में स्थानिय पुलिस नाकाम साबित हो रही है। जिसके कारण क्षेत्र के ग्रामीणों खुद शराब माफियाओं के खिलाफ लामबंद हो गए है। रविवार सुबह रबूपुरा कोतवाली क्षेत्र के जेवर-बुलन्दशहर राज्यमार्ग पर स्थित एक ढाबा से वीरमपुर गांव के दर्जनों ग्रामीणों ने भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद की है। हालंकि इस दौरान आरोपी ढाबा संचालक व उसका साथी ग्रामीणों के चंगुल से फरार हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शराब जब्त कर आरोपियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर उनकी तलाश कर है। उधर रबूपुरा क्षेत्र में हो रही अवैध शराब बिक्री के विरोध में ग्रामीणों ने एक पंचायत का आयोजन भी किया। जानकारी के अनुसार रबूपुरा कोतवाली क्षेत्र के जेवर-बुलन्दशहर राज्यमार्ग पर वीरमपुर गांव के समीप स्थित चौधरी ढाबा पर काफी समय से अवैध रूप से हरियाणा मार्का शराब की बिक्री धड़ल्ले से की जा रही थी। आरोप है कि कई बार ग्रामीणों ने स्थानिय पुलिस इसकी शिकायत भी कि लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाही नही की। पुलिस की कार्रवाही से हताश वीरमपुर गांव के दर्जनों ग्रामीण शनिवार सुबह ढाबा पर पहुंच गए और ढाबा के बेसमेन्ट में रखी 25 पेटी हरियाणा मार्का अवैध अंग्रेजी व देशी शराब बरामद की। लेकिन इस दौरान आरोपी ढाबा संचालक धीरज व उसका साथी सत्तन मौके से फरार हो गए। इसकी सूचना ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना पर पहुंची पुलिस ने शराब जब्त कर आरोपियों पर रिपोर्ट दर्ज की है। इसके बाद शनिवार दोपहर ग्रामीण क्षेत्र के वीरमपुर, चकवीरमपुर, थोरा, दयान्तपुर, आकलपुर, मुरादगढ़ी, रन्हैरा आदि दर्जनों गांव के सैकड़ों ग्रामीणों ने गांव वीरमपुर में अवैध शराब बिक्री रोकने के लिए एक पंचायत का आयोजन किया। पंचायत में मौजूद लोगों ने हाइवे पर तैनात एक पीसीआए के पुलिसकर्मीयों पर शराब माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस ढाबा से शनिवार सुबह ग्रामीणों ने भारी मात्रा में अवैध शराब बरामद की है उसकी ढाबा के समीप पुलिसकर्मी पीसीआर पर तैनात रहते है और उन्ही कर्मीयों के सरंक्षण मे हाइवे के नजदीक के क्षेत्रों में अवैध शराब को कारोबार अंजाम दिया जाता है। पंचायत में लोगों ने एक सुर में क्षेत्र से अवैध शराब की बिकी्र रोकने की शपथ लेते हुए स्थानिय पुलिस से सहयोग की मांग की। पंचायत की अध्यक्षता कैप्टन सुभाष सिंह व संचालन हरीश चन्द ने किया। इस दौरान धीरू भैया, चरन सिंह, निंरजन सिंह, केपी सिंह, मास्टर होशियार, डिगेन्द्र सिंह, अशोक कुमार, हंसराज, रमेश शर्मा, सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूद रहे।

Share it
Share it
Share it
Top