ग्रेटर नोएडा: साजन हत्याकांड-परिजनों ने इंसाफ की मांग को लेकर किया सड़क जाम

ग्रेटर नोएडा: साजन हत्याकांड-परिजनों ने इंसाफ की मांग को लेकर किया सड़क जाम

ग्रेटर नोएडा। सलारपुर में 11 जुलाई की रात साजन भाटी की गोलियों से भूनकर हत्या के मामले में गुस्साए परिजनों ने सोमवार सुबह 8 बजे से 10.30 बजे तक दादरी-सूरजपुर-छलेरा (डीएससी) सडक पर जाम लगा दिया। इस दौरान रूट डायवर्ट कर लोगों को जाम से निकाला गया। बता दें कि पुलिस ने रविवार को प्रदीप भाटी और एक अन्य को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया। पुलिस ने हत्या का कारण जमीनी विवाद बताया था। वहीं जमीन के विवाद में हत्या की बात से परिजन इनकार कर रहे हैं। परिजनों का आरोप है कि पुलिस घटना में सात लोगों को शामिल होने की बात कह अन्य आरोपियों को राहत दे रही है। पुलिस ने उनके साथ इंसाफ नहीं कर रही है।
अवैध वसूली न करने पर की थी हत्याः कोतवाली सेक्टर-39 पुलिस ने प्रदीप भाटी व उसके साथ आमिर को गिरफ्तार कर रविवार को खुलासा किया। जिसमें एक दुकान की जमीन में अपना हक मांगने पर साजन भाटी की हत्या की वजह बताई। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार आमिर ने साजन भाटी के जिम से निकलने की सूचना प्रदीप को दी थी। इसके बाद प्रदीप भाटी अपने सात लोगों के साथ साजन भाटी पर 15 गोलियां चलाकर हत्या कर दी थी। वहीं पीडिघ्त पिता गजराज का कहना है कि सभी आरोपी शहर में चल रहे ऑटो से अवैध वसूली करते थे। ये लोग साजन भाटी को भी इस काम में शामिल करना चाहते थे। साजन भाटी ने अवैध काम का विरोध करते हुए पुलिस अधिकारियों से इसकी शिकायत की था। आरोप है कि पुलिस ने कार्रवाई की होती तो साजन भाटी आज जिंदा होता।
हत्यारों को बचा रही पुलिसः पुलिस वारदात में सात लोगों के शामिल होने की बात कह रही है, जिसमें एक शूटर भी शामिल है। वहीं परिजनों का आरोप है कि जिन लोगों कों उन्होंने नामजद किया वह सभी लोग हत्या करने में शामिल थे। पुलिस उनका बचाव कर रही है।
रास्ता बदलकर जाम से बचायाः पुलिस से गुस्साए परिजनों ने डीएससी रोड पर जाम लगा दिया। ऑफिस जाने के वक्त जाम की सूचना पर जाम लग गया। ऐसे में यातायात पुलिस ने फेज-2 से नोएडा की तरफ जाने वाले ट्रैफिक को भंगेल के पास से डायवर्ट कर सेक्टर 49 थाने के पास निकाला। वहीं छलेरा की ओर से फेज-2 जाने वाले ट्रैफिक को सेक्टर-49 थाने से डायवर्ट कर भंगेल के पास निकाला।
दो दिन का समय मांगाः जाम की सूचना पर पहुंचे एसपी अरुण कुमार सिंह व अन्य अधिकारियों ने परिजनों को आश्वासन दिया कि घटना में जो भी शामिल हैं उन्हें अवश्य सजा मिलेगी। पुलिस ने परिजनों से अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दो दिन का वक्त मांगा है।
ये था मामलाः सलारपुर निवासी पुत्र साजन भाटी (28) पुत्र गजराज भाटी जमीन व पुरानी कारों की खरीद-बिक्री का काम करता था। वह पेशे जिम ट्रेनर था। 11 जुलाई की रात गांव में ही परिवार के परिजनों ने श्रीपाल भाटी, रिषीपाल भाटी, प्रदीप भाटी, रिंकू भाटी, नितिन भाटी, पपींद्र भाटी, कालू भाटी ने तीन अज्ञात लोगों के साथ गोली मारकर हत्या कर दी थी।

Share it
Top