गुरुग्राम में डॉक्टरों ने इराकी मरीज के सीने से निकाला नौ किलो का ट्यूमर

गुरुग्राम में डॉक्टरों ने इराकी मरीज के सीने से निकाला नौ किलो का ट्यूमर

गुरुग्राम । गुरुग्राम के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने 41 वर्षीय एक इराकी मरीज के सीने से नौ किलोग्राम का ट्यूमर निकालकर उसे नई जिंदगी दी है। यह ट्यूमर मरीज के फेफड़ों के बीच एक झिल्ली में था जो उसके फेफड़ों और हृदय को दबा रहा था। इसकी वजह से उसकी धमनियां सिकुड़ गई थीं और उसे सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। साथ ही उसके सीने में लगातार दर्द बना हुआ था।
फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट के निदेशक और कार्डियक सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉक्टर उदगित धीर ने शनिवार को बताया कि मरीज धाई सलीम को सांस लेने में लगातार दिक्कत हो रही थी। उसे चलने और बात करने में भी परेशानी थी। उसने कई डॉक्टर्स से सलाह ली और कई तरह के जरूरी टेस्ट भी कराए। हालांकि, उसे कहीं से भी ज्यादा फायदा नहीं हुआ।
जब वह फोर्टिस अस्पताल आया तो उसकी स्थिति बिगड़ रही थी। जांच में दिल के दाहिनी तरफ मांस के बड़े टुकड़े का पता चला। इससे दिल में खून जाने में परेशानी हो रही थी और ऑक्सीजन की आपूर्ति पर भी असर पड़ रहा था।
इसके बाद 21 अप्रैल को मरीज की सर्जरी की गई जो करीब चार घंटे तक चली। तीन दिन में मरीज की सेहत में सुधार के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और अब वह पूरी तरह स्वस्थ है।

Share it
Top