फरीदाबाद में नया गैंग सक्रिय, घर के सामने खड़े वाहनों को लगा दे रहे आग, लोगों में दहशत का माहौल

फरीदाबाद में नया गैंग सक्रिय, घर के सामने खड़े वाहनों को लगा दे रहे आग, लोगों में दहशत का माहौल



एक सप्ताह में चार वाहन जले,

फरीदाबाद। अभी तक आपने वाहन चोर गैंग, कान तोड़ गैंग, और वाहनों की छीना-झपटी करने वाले गैंगों के बारे में सुना होगा, मगर फरीदाबाद में इन दिनों एक नए गैंग ने नए तरीके से वारदातों को अंजाम देना शुरू कर दिया है। यह गैंग चोरी नहीं करता है और छीना-झपटी भी नहीं करता है बल्कि यह गैंग सिर्फ और सिर्फ गलियों में घर के सामने खड़े हुए वाहनों को आग लगा देता है । इस प्रकार की घटना को अंजाम देकर पता नहीं इस गैंग के लोगों को क्या मिलता है ।

मगर जिसके वाहन में आग लगती है उसका बहुत बड़ा नुकसान हो रहा है। शहर में इन दिनों एक अनोखा क्राइम देखने को मिल रहा है, कोई है जो घर के सामने गलियों में खड़े वाहनों में आग लगा रहा है, एक या दो नहीं बल्कि पिछले 1 सप्ताह के अंदर 4 वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया है, जिसमें कार, ऑटो और बाइकें शामिल हैं । यह अनोखा क्राइम फरीदाबाद के डबुआ क्षेत्र से सामने आ रहा है, जिससे पूरे क्षेत्रवासियों में भय का माहौल बना हुआ है। लोग रातों को जाग कर अपने वाहनों की देखरेख कर रहे हैं । पुलिस को इस मामले में सूचना भी दे दी गई है मगर अभी तक वाहनों के इस दुश्मन को पुलिस पकड़ नहीं पाई है। पीडि़त वाहन मालिकों की मानें तो उनके वाहन घर के सामने गली में खड़े थे, रात्रि में अचानक टायर फटने की आवाज सुनाई दी, जब बाहर निकल कर देखा तो उनकी गाड़ी में आग लगी हुई थी। आनन-फानन में आग पर काबू पाया गया और पुलिस को सूचना दी गई। ऑटो चालक और बाइक मालिक ने बताया कि वह रात्रि को अपने वाहन घर के सामने गली में खड़े करके सोए थे , मगर सुबह उठकर देखा तो ऑटो और बाइक जलकर राख हुए मिले, इन घटनाओं की सूचना पुलिस को दे दी गई है। डबुआ पुलिस थाने में अज्ञात वारदातकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज भी कर लिया गया है । मगर अभी तक व्हीकलों के दुश्मन का कोई सुराग नहीं लग पाया है।

स्थानीय निवासी सहीराम रावत से रविवार जब बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि 1 सप्ताह के अंदर हुई वारदातों से पूरा क्षेत्र भय के साए में जीने के लिए मजबूर है । कोई आता है और वाहनों को आग लगा कर चला जाता है। पुलिस में शिकायत दी है तो पुलिस जवाब मिला है कि लोग अपने वाहनों की खुद सुरक्षा करें और रात के समय गश्त करें। डबुआ पुलिस थाने में इंचार्ज से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस मामले में कुछ भी बोलने से साफ इंकार कर दिया |[रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध ,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]


Share it
Top