राफेल डील को लेकर दिल्ली में यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन

राफेल डील को लेकर दिल्ली में यूथ कांग्रेस का प्रदर्शन


नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर यूथ कांग्रेस ने दिल्ली के अकबर रोड से प्रधानमंत्री आवास तक प्रदर्शन किया। यूथ कांग्रेस के कार्य़कर्ताओं ने प्रधानमंत्री आवास और संसद का घेराव करने का ऐलान किया था लेकिन पुलिस ने मंदिर मार्ग पर बैरीकेटिंग लगा कर उन्हें रोक दिया। इस दौरान पुलिस ने यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष केशव चंद यादव और और उपाध्यक्ष श्रीनिवास को हिरासत में ले लिया।

यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष केशव चंद यादव की अगुवाई में हुए इस प्रदर्शन के बाद यादव ने कहा कि मोदी सरकार ने राफेल डील में सरकारी प्रक्रियाओं की जमकर धज्जियां उड़ाई हैं। रक्षा खरीद प्रक्रिया अधिनियम 2005 के तहत सभी विदेशी कम्पनियों को रक्षा करार का एक हिस्सा भारत में निवेश करना था, जो नहीं हुआ।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कहा, 'मोदी जी के इशारे पर ही राफेल का तमाशा हुआ, पैसे ज्यादा दिए और कम विमान का सौदा हुआ।'

केशव चंद यादव ने कहा कि मोदी कहते हैं कि उन्होंने श्रेष्ठता के लिए महंगा राफेल खरीदा। यदि ऐसा है तो दसॉल्ट के साथ जाने के बजाय दूसरे विकल्प यूरोफाइटर टाइफून से बातचीत करनी चाहिए थी, क्योंकि भारतीय वायुसेना ने तो कम खर्चे के आधार पर राफेल को चुना था। मोदी जी ने जो राफेल सौदा किया है उसमें अंबानी को फायदा पहुंचेगा और देश को बहुत ज्यादा नुकसान होगा। हमें टेक्नोलॉजी हस्तांतरण के बिना पहले से तिगुनी कीमत पर कम विमान मिलेंगे। जब हम राफेल घोटाले की बात करते हैं तो अनिल अंबानी द्वारा हमें 5000 करोड़ रुपए का मानहानि नोटिस थमा दिया जाता है लेकिन कांग्रेस डरने वाली नहीं हैं। जब तक घोटाले में लिप्त लोगों पर कारवाई नहीं होती हम इसके खिलाफ आवाज उठाते रहेंगे। जो फ्रांस हमारे शासनकाल में 428 करोड़ डॉलर में विमान देने को तैयार था अब वह शर्त रखता है कि मिस्र व कतर जैसे देशों को उसने जिस मूल्य पर करार किया है उसी मूल्य पर ही भारत को भी विमान देगा। मतलब मोदी राज में हमारी तुलना मिस्र और कतर जैसे देशों से होने लगी है।


Share it
Share it
Share it
Top