अटल जी की अंत्येष्टी को लेकर दिल्ली की कई सड़कें रहेंगी बंद

अटल जी की अंत्येष्टी को लेकर दिल्ली की कई सड़कें रहेंगी बंद


नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अंत्येष्टी को लेकर किए गए सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर शुक्रवार को कृष्णा मेनन रोड, सुनहरी बाग, तुगलक रोड, अकबर रोड, जनपथ (कैंब्रिज होटल से विंडसोर पैलेस तक), मान सिंह रोड, शाहजहां रोड से तिलक मार्ग (षटभुज) आदि मार्ग सुबह आठ बजे से बंद रहेंगे। इसको लेकर दिल्ली पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। इस बीच यह भी जानकारी मिली है कि रेलवे नियुक्ति बोर्ड की सहायक लोको पायलट व टेक्नीशियन पद के लिए आज होने वाली परीक्षा अपने निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक आयोजित होगी।

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी की मृत्यु बीते गुरुवार को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) में शाम 5.05 बजे हुई थी। वह कई तरह के संक्रमण का सामना कर रहे थे। उन्हें बीते 11 जून को एम्स में दाखिल करवाया गया था। पिछले तीन दशक से एम्स के मौजूदा निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया उनका इलाज कर रहे थे। वह उनके पारिवारिक डॉक्टर भी थे। हालांकि उनकी इलाज में नेफ्रोलॉजी, गैस्ट्रोइंटरोलॉजी, कार्डियोलॉजी विभाग के डॉक्टर भी शामिल थे। अटल जी को एम्स में जीवन रक्षा प्रणाली के सहारे रखा गया था। कल एम्स ने दो बार उनके स्वास्थ्य को लेकर बुलेटिन जारी किया था। इन बुलेटिनों में कहा गया था कि उनकी हालत अच्छी नहीं है। हालांकि अंत में एम्स प्रशासन ने उनकी मौत की घोषणा कर दी।

आज उनकी अंत्येष्टी को लेकर दिल्ली में गहमा-गहमी जारी रहेगी। दिल्ली पुलिस ने इसको लेकर एडवाइजरी जारी की है। इस बीच डीसीपी ट्रैफिक (मुख्यालय) राजीव रंजन सिंह ने भी बताया कि उक्त सभी सड़कें आठ बजे सुबह से बंद रहेंगी। उधर, निधन के बाद एम्स से वाजपेयी का पार्थिव शरीर उनके आवास कृष्णा मेनन मार्ग पर रखा गया था। आज सुबह 9 बजे वाजपेयी का पार्थिव शरीर को बीजेपी मुख्यालय लाया जाएगा। जहां उनके पार्थिव शऱीर को करीब 4 घंटे तक रखा जाएगा। यहीं नेताओं समेत तमाम हस्तियां भावभीनी श्रद्धांजलि देंगी। उनके सम्मान में बीजेपी के झंडे को पार्टी मुख्यालय में आधा झुका दिया गया है।

पार्टी की ओर अंतिम विदाई देने के बाद दोपहर एक बजे अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा निकाली जाएगी, जो भाजपा कार्यालय से से राष्ट्रीय स्मृति स्थल तक जाएगी। फिर शाम के 4 बजे स्मृति स्थल में वाजेपयी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। उधर, स्मृति स्थल के आसपास भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं। एसपीजी को भी तैनात किया गया है। बीएसएफ पहले से ही राष्‍ट्रीय स्‍मृति की निगरानी कर रही है।

उल्लेखनीय है कि स्मृति स्थल में वाजपेयी का स्मारक बनाने के लिए डेढ़ एकड़ जमीन दी गई है। राष्ट्रीय स्मृति को पूरी तरह साफ कर दिया गया है। राष्ट्रीय स्मृति स्थल में ही पूर्व राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा और के आर नारायणन की भी समाधि स्थित है।


Share it
Top