21 से 23 जनवरी तक चलने वाले पोलियो अभियान का बहिष्कार करेंगी आशा वर्कर्स

21 से 23 जनवरी तक चलने वाले पोलियो अभियान का बहिष्कार करेंगी आशा वर्कर्स

गुरुग्राम। आशा वर्कर्स यूनियन ने आज यहां कहा कि यदि सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानीं तो 21 से 23 जनवरी तक चलने वाले पोलियो अभियान का बहिष्कार किया जाएगा।
यूनियन की हरियाणा की राज्य कमेटी के आह्वान पर आज दूसरे दिन आशा कर्मियों ने अपनी लंबित पड़ी अपनी मांगों के लिए गुरुग्राम लघु सचिवालय के सामने क्रमिक धरना लगा कर सरकार की कर्मचारी व मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ रोष प्रकट किया। धरने पर बैठी आशा कर्मियों ने आँगनवाड़ी के साथ मिल कर 21 से 23 जनवरी को चलने वाले पोलियो अभियान का बहिष्कार करने का प्रस्ताव रखा जिसको सभी ने स्वीकार किया तथा कहा कि जब तक सरकार माँगें नहीं मान लेती तब तक सरकारी कार्यक्रमों का बहिष्कार किया जाएगा। 25 जनवरी तक यदि सरकार नहीं मानती है तो 27 जनवरी से सभी आशा कर्मी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जाएंगी तथा 30 जनवरी को आहूत कर्मचारी व मजदूरों के संयुक्त जेल भरो आंदोलन में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेंगी। परियोजना कर्मी अपनी मांगों को लेकर पिछले कई सालों से सरकार के साथ वात्र्ता व बैठकें करती रही है, मगर अभी तक सरकार कि तरफ से उनको कोरे आश्वासनों के अलावा कुछ नहीं मिला। आशा कर्मियों की मांग है कि 45वें श्रम सम्मेलन की अनुशंसा के अनुसार उनको कर्मचारी घोषित किया जाए तथा न्यूनतम वेतन लागू किया जाए। सामाजिक व स्वास्थ्य सुरक्षा के दायरे में आने वाले सभी लाभ भी आशाओं को दिये जाए। आशा कर्मियों की मांगों के समर्थन में सेंटर फॉर इंडियन ट्रेड यूनियन्स (सीटू) के जिला सचिव कामरेड राजेंद्र सरोहा, कोषाध्यक्ष एस एल प्रजापति, भवन निर्माण कामगार यूनान के दिनेश कुमार, सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान कुँवर लाल यादव, आँगनवाड़ी वर्कर्स यूनियन की जिला सचिव सरस्वती देवी, हरियाणा ज्ञान विज्ञान समिति के जिला संयोजक ईश्वर नास्तिक आदि मौजूद रहे।आल इंडिया स्टेट गवर्नमेंट एंप्लाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय सचिव व सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य महासचिव कामरेड सुभाष लंबा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश शास्त्री ने भी धरना स्थल पर आकर आशा कर्मियों की मांगों का समर्थन कर उनको हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन दिया।

Share it
Top