नागेंद्र भड़ाना के कार्यालय पर तोडफोड़, कांग्रेस विधायक के भाई सहित कई गिरफ्तार

नागेंद्र भड़ाना के कार्यालय पर तोडफोड़, कांग्रेस विधायक के भाई सहित कई गिरफ्तार


फरीदाबाद। विधानसभा चुनावों के दौरान पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना के 60 फुट रोड स्थित कार्यालय पर तोडफ़ोड़ करने के मामले में शनिवार को सीआईए बडखल पुलिस ने कांग्रेस विधायक नीरज शर्मा के सगे भाई मुनेश शर्मा सहित कई लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

विधायक के भाई की गिरफ्तारी का पता चलते ही उनके सैकड़ों समर्थक सीआईए सेक्टर-46 जा पहुंचे और हंगामा करने लगे। पुलिस ने लोगों को समझा बुझाकर मामला शांत करवाया। उसके बाद चेतावनी दी, आप लोग कानून को हाथ में न लें।

उल्लेखनीय है कि 20 अक्टूबर को चुनावों के दौरान पूर्व विधायक नागेंद्र भड़ाना के 60 फुट रोड स्थित कार्यालय पर कुछ लोगों ने तोडफ़ोड़ की थी। जिस गाड़ी में बैठकर हमलावर आए थे, वह गाड़ी कांग्रेस के विधायक नीरज शर्मा के चुनाव प्रचार में लगी थी और वह उनके एक समर्थक की थी। इस मामले में पुलिस ने चुनावों के दौरान 25 अक्टूबर को वीरेंद्र नामक युवक की शिकायत पर मुकदमा दर्ज किया था।

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने विधायक नीरज शर्मा के भाई मुनेश शर्मा सहित कई लोगों की पहचान करने के बाद बीती रात कांग्रेसी विधायक नीरज शर्मा को उनके भाई सहित अन्य लोगों को पेश होने को कहा था और आज जब वह पुलिस के समक्ष पेश हुए तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में विधायक नीरज शर्मा का कहना है कि पुलिस यह कार्यवाही राजनीतिक द्वेष भावना के तहत कर रही है, क्योंकि वह इस मामले में डीजीपी से भी मिल चुके हैं और उन्होंने इस मामले की जांच फरीदाबाद पुलिस की बजाए स्टेट क्राइम ब्यूरो से करवाने की सिफारिश की थी, परंतु उनकी इस मांग को नहीं माना गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस उनके समर्थकों को इस तरह रात-बिरात तंग करती है, जैसे वह कोई आतंकी हो। उन्होंने कहा कि उनके कई समर्थकों को पुलिस ने पीटा भी है। विधायक नीरज शर्मा ने स्पष्ट कहा कि वह इस मामले को लेकर उच्चाधिकारियों के पास ले जाएंगे और निष्पक्ष जांच की मांग करेंगे। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि चुनावों में भाजपा की टिकट पर नागेंद्र भड़ाना चुनाव लड़े थे, जबकि कांग्रेस की टिकट पर नीरज शर्मा और इन दोनों में ही कांटे का मुकाबला हुआ था।


Share it
Top