बुधवार को रिमांड की अवधि खत्म, पुलिस उठा सकती है जज की पत्नी की हत्या के रहस्य से पर्दा

बुधवार को रिमांड की अवधि खत्म, पुलिस उठा सकती है जज की पत्नी की हत्या के रहस्य से पर्दा



गुरुग्राम। साइबर सिटी की अदालत में कार्यरत एडीजे कृष्णकांत शर्मा की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले कांस्टेबल से पुलिस अभी कुछ हासिल नहीं कर पाई है। मंगलवार को जज के बेटे ध्रुव की हालत में मामूली सुधार बताया जा रहा है। हालांकि अभी भी ध्रुव वेंटिलेटर पर है। पुलिस ने जज की पत्नी की मौत के बाद आरोपी के खिलाफ धारा 302 भी जोड़ दी है। बुधवार को आरोपी की रिमांड की अवधि समाप्त हो रही है।

बता दें कि एडीजे के गनर रहे आरोपी महीपाल को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर रविवार को कड़ी सुरक्षा के बीच प्रियंका जैन की अदालत में पेश कर 4 दिनों के पुलिस रिमांड पर लिया था। बुधवार को हत्या आरोपी कांस्टेबल महीपाल की रिमांड अवधि खत्म हो रही है। जानकारी के मुताबिक रिमांड के दौरान पुलिस कुछ ज्यादा सच उगलवा नहीं पाई या फिर अभी बताना नहीं चाह रही है। पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस महीपाल का दोबारा रिमांड मांग सकती है।

अभी तक पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पूछताछ के दौरान महीपाल शांत स्वभाव का था। किसी से ज्यादा बात भी नहीं करता था। लेकिन पूछताछ के दौरान वह उग्र होकर चिल्लाने लगता है। सूत्र बताते हैं कि एडीजे के गनर व हत्या के आरोपी महीपाल ने छुट्टी के लिए कोई आवेदन नहीं किया था। आपको बता दें कि सोमवार को पूरे दिन सोशल मीडिया पर यही चर्चा रही कि उसे छुट्टी नहीं मिल रही थी।

उल्लेखनीय है कि एडीजे के गनर महीपाल ने शनिवार को दोपहर बाद आर्केडिया मार्केट में जज की पत्नी और बेटे को गोली मार दी थी। गोली लगने से जज की पत्नी ऋतु की शनिवार रात मौत हो गई थी वहीं ध्रूव की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है हालांकि कुछ सुधार की सूचना है। अब सूचना है कि बुधवार को पुलिस इस हत्याकांड के पर्दे से राज उठा सकती है। बुधवार को आरोपी के रिमांड का समय समाप्त हो रहा है और उसे अदालत में भी पेश किया जाएगा।


Share it
Top