प्रणव, अंसारी ने की अमरनाथ यात्रियों पर आतंकवादी हमले की निंदा

प्रणव, अंसारी ने की अमरनाथ यात्रियों पर आतंकवादी हमले की निंदा

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी तथा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और कांग्रेस सहित विभिन्न विपक्षी दलों के नेताओं ने जम्मू-कश्मीर के अनन्तनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों पर आंतकवादी हमले की कड़ी निन्दा की है। श्री मुखर्जी ने आज जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल एन एन वोहरा को भेजे संदेश में कहा, मैं अमरनाथ यात्रियों पर कायराना हमले के बारे में जानकर स्तब्ध और दुखी हूं, जिसमें कई निर्दोष तीर्थयात्री मारे गए और कई अन्य घायल हुए हैं।'' राष्ट्रपति ने कहा कि निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर किए गए ऐसे असंवेदनशील आतंकवादी कृत्य समाज के लोकतांत्रिक मूल्यों पर हमला हैं, जिनकी व्यापक निन्दा होनी चाहिए और ²ढ़ निश्चय और एकजुट होकर इनका मुकाबला किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, मैं राज्य सरकार और सभी सम्बद्ध एजेंसियों यह सुनिश्चित करने का आग्रह करता हूं कि दोषियों को दंडित करें और राज्य में कानून-व्यवस्था को बनाए रखें। मैं आश्वस्त हूं कि जिन लोगों ने इस आतंकवादी हमले में अपने प्रियजनों को खोया है और जो लोग घायल हुए हैं, उन्हें सभी संभव सहायता उपलब्ध करायी जा रही होगी। श्री मुखर्जी ने कहा कि वह मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं। उपराष्ट्रपति ने भी हमले की निन्दा करते हुए कहा, जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ तीर्थयत्रियों पर आतंकवादी हमले की खबर सुन कर मुझे गहरा आघात पहुंचा है, जिसमें तीर्थयात्रियों की जानें गई हैं और कई घायल हुए हैं। हिंसा की ऐसी निरर्थक घटनाओं का कोई औचित्य नहीं है और ऐसी वारदात के षड्यंत्र करने वालों या उन्हें मदद पहुंचाने वालों को इस मानवता विरोधी अपराध के लिए दंडित किया जाना चाहिए। श्री अंसारी ने कहा,Þ भारत की आत्मा पर किए जाने वाले ऐसे हमलों का सामना करने के लिए हम एकजुट हैं। मैं शोकसंतप्त परिवारों के प्रति गहन संवेदना व्यक्त करता हूं और पूरे राष्ट्र के साथ दुआ करता हूं कि दिवंगत आत्माओं को शांति मिले और घायल लोग शीघ्र स्वस्थ हों।Þविपक्षी दलों ने जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रियों पर आतंकवादी हमले को अमानवीय और कायरतापूर्ण बताते हुये इसकी कडी निन्दा की है और इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है ।

Share it
Share it
Share it
Top