जम्मू-कश्मीर में लगे राज्यपाल शासन: कर्ण सिंह

जम्मू-कश्मीर में लगे राज्यपाल शासन: कर्ण सिंह

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद डॉ. कर्ण सिंह ने अमरनाथ यात्रियों पर आतंकवादी हमले को कायराना और कश्मीरीयत की बुनियादी मान्यताओं के विरुद्ध बताते हुए जम्मू-कश्मीर में स्थिति को नियंत्रित करने के लिए राज्यपाल शासन लगाने की मांग की है। डॉ़ सिंह ने आज यहां जारी वक्तव्य में कहा कि इस घृणित अपराध की साजिश रचने वालों की पहचान करके उन्हें इंसाफ के कठघरे में खड़ा किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी में स्थिति राज्य की गठजोड़ सरकार की विफलता साबित हुई है। डॉ. सिंह ने कहा, खंडित चुनावी जनादेश के बाद गठजोड़ के एजेंडा के आधार पर उत्तरी ध्रुव और दक्षिणी ध्रुव को एक साथ लाने की उनकी नेक इरादे वाली मुफ्ती साहेब की कोशिश घिसट रही है। उन्होंने कहा कि इस कायरतापूर्ण हमले की निन्दा करने के लिए कोई भी शब्द कम है। यह महान धर्म और कश्मीरीयत की बुनियादी मान्यता है, हमलावर जिसका समर्थक होने का दम भरते हैं। उन्होंने कश्मीरी समुदाय से शांति बनाये रखने की अपील की और कहा कि उसे कुछ भी ऐसा नहीं होने देना चाहिए जिससे समाज का ध्रुवीकरण हो।
डॉ. सिंह ने जोर देकर कहा कि यह उनका व्यक्तिगत विचार है कि जम्मू-कश्मीर की मौजूदा स्थिति में तत्काल राज्यपाल शासन लागू करना अगला कदम होना चाहिए ताकि पूरी सुरक्षा, राजनीतिक और क्षेत्रीय स्थिति को फिर व्यवस्थित किया जा सके। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि पूरे यात्रा मार्ग को निर्विघ्न बनाने के आश्वासनों और खुफिया रिपोर्ट से इस तरह के हमले होने का संकेत मिलने के बावजूद यह हमला हुआ। गौरतलब है कि कल रात अनन्तनाग जिले में आतंकवादी हमले में सात अमरनाथ यात्री मारे गए और तीन पुलिसकर्मियों समेत 11 लोग घायल हुए थे।

Share it
Share it
Share it
Top