एक लांच से इसरो ने कमाये 45 करोड़

एक लांच से इसरो ने कमाये 45 करोड़

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 23 जून को पीएसएलवी सी-38 के प्रक्षेपण से 61 लाख यूरो (करीब 45.20 करोड़ रुपये) की कमाई की। अंतरिक्ष विभाग के मंत्री जितेंद्र सिंह ने आज लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में बताया कि 23 जून को हुये इस प्रक्षेपण में इसरो के कार्टोसेट-2 सीरीज के मुख्य उपग्रह के अलावा इस मिशन में 30 क्षुद्र उपग्रहों का भी प्रक्षेपण किया गया था जिनमें 29 विदेशी थे। इन विदेशी उपग्रहों के प्रक्षेपण से इसरो को 61 लाख यूरो की कमाई हुई है। श्री सिंह ने बताया कि इन 29 उपग्रहों में से अमेरिका के 10, बेल्जियम, ब्रिटेन और इटली के तीन-तीन तथा ऑस्ट्रिया, चिली, चेक गणराज्य, फ्रांस, फिनलैंड, जर्मनी, जापान, लातिविया, लिथुआनिया और स्लोवाकिया का एक-एक उपग्रह शामिल था। विदेशी उपग्रह के प्रक्षेपण के लिए समझौते आदि का काम इसरो की वाणिज्यिक इकाई एंट्रिक्स के माध्यम से किया जाता है। एक क्षुद्र उपग्रह तमिलनाडु के नूरुल इस्लाम विश्वविद्यालय का था।

Share it
Top