कांग्रेस ने 70 वर्षों तक की आदिवासी समाज की उपेक्षा : शाह

कांग्रेस ने 70 वर्षों तक की आदिवासी समाज की उपेक्षा : शाह

नयी दिल्लीकेन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर 70 वर्षों तक आदिवासी समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार देश के वन धन और सांस्कृतिक धरोहर को संजो कर रखने वाले इस समुदाय के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है।

श्री शाह ने शनिवार को यहां दिल्ली हाट में आदि महोत्सव का उद्घाटन करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि आदिवासी समाज ने देश के प्राकृतिक संसाधनों और सांस्कृतिक धरोहर तथा परंपराओं को सहेज कर रखा है लेकिन कांग्रेस ने 70 वर्षों तक इस समुदाय की उपेक्षा की और इसका इस्तेमाल केवल वोट बैंक की तरह किया। कांग्रेस ने अपने शासनकाल में आदिवासी समाज को अंधकार में ही रखा और उनके जीवन में उजाला नहीं आने दिया।

उन्होंने कहा कि यह समाज लंबे समय से देश की सांस्कृतिक विविधता का वाहक बना हुआ है और उसने प्रतिकूल परिस्थितियों में रहते हुए देश के वन धन का संरक्षण किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार आदिवासी समाज की संस्कृति और परंपराओं के साथ छेड़छाड़ के बिना उसके कल्याण के प्रति संकल्पित है और उसके साथ चट्टान की तरह खड़ी है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि इतने बड़े समाज की कांग्रेस द्वारा उपेक्षा का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उनके लिए कभी अलग से मंत्रालय का गठन नहीं किया गया। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में पहली बार आदिवासी कल्याण मंत्रालय बनाया गया। मोदी सरकार ने इस काम को आगे बढ़ाते हुए आदिवासी क्षेत्रों में व्यक्ति, गांव और समूचे क्षेत्र के विकास की तीन स्तरीय योजना बनाई है। आदिवासी समाज के कल्याण की योजनाओं को आगे बढ़ाते हुए इसके लिए बजट की राशि 6800 करोड़ रुपये कर दी गयी है। आदिवासी छात्रों को दी जाने वाली छात्रवृति की राशि भी बढ़ाई गयी है।

Share it
Top