पीएसएलवी-सी42 के जरिये ब्रिटेन के दो उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण

पीएसएलवी-सी42 के जरिये ब्रिटेन के दो उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण

श्रीहरिकोटाभारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने अपने वाणिज्यिक मिशन के तहत रविवार रात ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी-सी 42 के जरिये ब्रिटेन के दो उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया।

प्रक्षेपण के 17 मिनट के बाद प्रक्षेपण यान ने दोनों उपग्रहों को उनकी कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया। ये उपग्रह चार स्तरीय प्रक्षेपण यान से अलग होने के बाद 583 किमी की सौर स्थैतिक कक्षा में भूमध्य रेखा के 97.806 डिग्री के झुकाव पर स्थापित किये गये।

इसरो ने 33 घंटे तक चली उल्टी गिनती के बाद रविवार रात 10:08 बजे श्रीहरिकोटा रेंज के पहले लॉन्च पैड से पीएसएलवी-सी42 का प्रक्षेपण किया। इस मिशन में दो पृथ्वी अवलोकन उपग्रह 'नोवा एसएआर' और 'एस1-4' को अंतरिक्ष में स्थापित किया गया, जिनका संयुक्त वजन 889 किलोग्राम है। इन्हें ब्रिटेन की कंपनी सरे सेटेलाइट टेक्नोलॉजीज़ लिमिटेड ने विकसित किया है। इनके प्रक्षेपण से वनों के सर्वेक्षण, बाढ़ एवं अन्य आपदाओं की निगरानी में मदद मिलेगी।

इसरो के अध्यक्ष डा. के सिवन ने प्रक्षेपण के बाद मिशन से जुड़े वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा कि यह पूर्ण रूप से सफल मिशन रहा और दाेनों उपग्रहों को उनकी नियत कक्षा में स्थापित कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, "आज पीएसएलवी-सी42 के जरिये हमारे ग्राहक के दो उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किये जाने से मैं अत्यंत प्रसन्न हूं। इस सफलता ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि पीएसएलवी इस्तेमाल के लिए सरल प्रक्षेपण यान है।"

Share it
Share it
Share it
Top