निपाह से प्रभावित जिलों में आइसोलेशन केंद्र बनाने की सलाह

निपाह से प्रभावित जिलों में आइसोलेशन केंद्र बनाने की सलाह

नयी दिल्ली। केंद्र के एक दल ने निपाह विषाणु से प्रभावित जिलों में समर्पित आइसोलेशन (पृथक) केंद्रों के गठन की सलाह दी है।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी. नड्डा ने आज केरल के स्वास्थ्य मंत्री के साथ राज्य में निपाह विषाणु से प्रभावित क्षेत्रों में किये गये जन स्वास्थ्य के उपायों की समीक्षा की। केंद्र सरकार की ओर से राष्ट्रीय रोग रोकथाम केंद्र (एनसीडीसी) के निदेशक के नेतृत्व में एक दल लगातार राज्य में निपाह की स्थिति पर नजर बनाये हुये है और इस बीमारी की रोकथाम में राज्य सरकार की मदद कर रहा है। इसमें एनसीडीसी, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, सफदरजंग अस्पताल और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान, पुणे के विशेषज्ञ शामिल हैं।
स्थिति की समीक्षा के बाद दल ने निपाह के मामलों को प्राथमिकता देने और इसके लिए जिले में समर्पित पृथक केंद्रों के गठन की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने इस विषाणु का संक्रमण रोकने के लिए कड़ी कार्यप्रणाली लागू करने की बात भी कही है। यह विषाणु मानव से मानव के संपर्क के जरिये फैल रहा है और इसलिए दल ने संपर्क में आने वाले सभी लोगों की नियमित निगरानी की सलाह दी है।
निपाह विषाणु से केरल के कोझिकोड और मलप्पुरम जिले प्रभावित हैं। अब तक इस बीमारी के 19 मामले सामने आये हैं जिनमें से 17 मरीजों की मौत हो चुकी है।

Share it
Top