राहुल, सोनिया देश से माफी मांगें: भाजपा

राहुल, सोनिया देश से माफी मांगें: भाजपा

नई दिल्ली। कांग्रेस पर तुष्टीकरण की राजनीति का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी ने आज मांग की कि कांग्रेस की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी और वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी को हिन्दू आतंकवाद और भगवा आतंकवाद का झूठ गढऩे के लिए देश से क्षमा मांगनी चाहिए। हैदराबाद की एक विशेष अदालत द्वारा वर्ष 2००7 के मालेगांव की मक्का मस्जिद में बम धमाकों को लेकर स्वामी असीमानंद सहित सभी पांचों आरोपियों को बरी किये जाने के फैसले पर कांग्रेस नेताओं की प्रतिक्रिया का जवाब देते हुए भाजपा के प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने यहां कहा कि इतनी पुरानी पार्टी आज बुरी तरह से बेनकाब हो गयी है जितना पहले कभी नहीं हुई। डॉ. पात्रा ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने तुष्टीकरण के लिए हिन्दू आतंकवाद का शब्द गढ़ कर इस महान धर्म को बदनाम करने की कोशिश की थी जिसका आज पर्दाफाश हो गया। चंद वोटों के लिए कांग्रेस पार्टी ने हिन्दू धर्म को बदनाम किया जिसके लिए श्रीमती सोनिया गांधी और श्री राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। तत्कालीन गृह मंत्री शिवराज पाटिल, तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत एवं सुशील कुमार शिन्दे ने भगवा आतंकवाद का शब्द गढ़ा था और तुष्टीकरण की राजनीति के संबंध में बयान दिये थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2०13 में जयपुर में कांग्रेस के अधिवेशन में श्रीमती सोनिया गांधी, श्री राहुल गांधी और डॉ. मनमोहन सिंह मंच पर विराजमान थे, तब तत्कालीन गृहमंत्री सुशील कुमार शिन्दे ने भगवा आतंकवाद कह कर एक ही झटके में करोड़ो वर्ष पुरानी हिन्दू संस्कृति एवं हिन्दुओं को गाली दी थी। इसे हम सबने सुना था। भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को बदनाम किया गया और श्रीमती गांधी और श्री गांधी चुपचाप बैठे रहे। उन्होंने कहा कि इससे पहले कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने पहली बार भगवा आतंकवाद का शब्द गढ़ा था। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से श्री शिन्दे ने धर्म को बदनाम करने का प्रयास किया वह श्री गांधी और श्रीमती सोनिया गांधी की प्रेरणा के बिना संभव नहीं है। उन्होंने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और सलमान खुर्शीद को भी निशाने पर लिया और कहा कि श्री खुर्शीद ने कहा
था कि बाटला हाउस में आतंकवादियों के मृत शरीर देख कर श्रीमती सोनिया गांधी रोईं थीं और तीन रात सोयीं नहीं थीं। कांग्रेस नेताओं ने बाटला हाउस मुठभेड़ में शहीद पुलिस अधिकारी के लिए श्रद्धांजलि के लिए दो शब्द तक नहीं कहे। उन्होंने कहा कि श्री दिग्विजय सिंह नर्मदा यात्रा करके आये हैं पर उन्होंने कांग्रेस महासचिव के तौर पर आतंकवादी सरगना ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी कह कर उसके खिलाफ अमेरिकी कार्रवाई की आलोचना की थी। उन्होंने कहा कि एक सेवानिवृत्त अधिकारी ने टेलीविजन पर कहा है कि कांग्रेस के मंत्री मालेगांव मामले में सच को छिपाने और झूठ को बढ़ाचढ़ाकर पेश करने में लगे थे। उन्होंने पूछा कि क्या यह सच नहीं है कि श्री राहुल गांधी ने अमेरिकी राजदूत से मुलाकात में कहा था कि देश में सिमी के आतंकवाद से ज्य़ादा बड़ा खतरा हिन्दू आतंकवाद का है। उन्होंने कहा कि जब टू जी मामले का फैसला आया तो कांग्रेस ने कहा कि ठीक निर्णय आया है लेकिन आज के निर्णय को लेकर उसके दोहरे मापदंड क्यों हैं। उन्होंने पूछा, क्या आज रात 12 बजे श्री राहुल गांधी मोमबत्ती लेकर क्षमायाचना करने के लिए इंडिया गेट पर आएंगे। उन्होंने कहा कि अगर श्रीमती सोनिया गांधी और श्री राहुल गांधी भारत को तिल भर भी अपना देश समझते हैं तो दोनों को बाहर आकर देश से माफी मांगनी चाहिए। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस के मुख्यमंत्री सिद्धारामैया खुद को नास्तिक बताते हैं और पापुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के साथ गठजोड़ करते हैं और उनके लोगों की रिहाई कर रहे हैं। अब श्री सिद्धारामैया कह रहे हैं कि उनके नाम में राम का नाम जुड़ा है।

Share it
Share it
Share it
Top