पटाखे बेचने पर प्रतिबंध संवैधानिक अधिकार का हनन :व्यापारी परिसंघ

पटाखे बेचने पर प्रतिबंध संवैधानिक अधिकार का हनन :व्यापारी परिसंघ

नयी दिल्ली । अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने दिल्ली एनसीआर में पटाखे बेचने पर उच्चतम न्यायालय के प्रतिबंधों को व्यापारियों के संवैधानिक अधिकार का हनन करार देते हुए कहा है कि सरकार को इसके खिलाफ समीक्षा याचिका दायर करनी चाहिए।
व्यापारी परिसंघ के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने आज यहां जारी एक बयान में कहा कि व्यापारी पर्यावरण सुरक्षा पर उच्चतम न्यायालय की चिंता से सहमत है लेकिन दिल्ली एनसीआर में दिवाली पर पटाखे बेचने पर प्रतिबंध व्यापारियों के व्यापार करने के संवैधानिक अधिकार का हनन है। पटाखों का व्यापार देश में सदियों से चला आ रहा है और पूर्ण रूप से क़ानून सम्मत होने के कारण भारतीय संविधान के अनुसार इसकी इजाज़त है।
खंडेलवाल ने कहा कि सरकार को न्यायालय में समीक्षा याचिका दाख़िल कर कम से कम इस दिवाली के लिए प्रतिबंध वापिस लेने का आग्रह करना चाहिए। परिसंघ का कहना है कि पर्यावरण को नुक़सान केवल पटाखों से नहीं बल्कि अन्य अनेक कारणों से भी होता है इस दृष्टि से इस मुद्दे पर व्यापक अध्ययन कर एक नीति बनाई जाना समय की माँग है ।

Share it
Top