जेएनयू शिक्षक संघ के चुनाव में वामपंथी विजयी...भाजपा समर्थित उम्मीदवार को बुरी तरह से किया पराजित

जेएनयू शिक्षक संघ के चुनाव में वामपंथी विजयी...भाजपा समर्थित उम्मीदवार को बुरी तरह से किया पराजित

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) शिक्षक संघ के चुनाव में एक बार फिर वामपंथी शिक्षकों ने अपना झंडा लहराया है और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थित उम्मीदवारों को बुरी तरह परास्त किया है। शुक्रवार सुबह आये चुनाव नतीजों में सभी सात पद वामपंथी पैनल ने जीत लिए हैं। चुनाव गुरुवार को हुआ था। सेंटर फॉर रीजनल डेवलपमेंट के प्रोफेसर अतुल सूद नये अध्यक्ष चुने गये हैं। उन्होंने अपने ही सेंटर के प्रोफेसर मिलाप पुनिया को हराया, जबकि स्कूल ऑ$फ लैंग्वेज लिटरेचर एंड कल्चर के अजित खन्ना और सेंटर फॉर स्टडी ऑ$फ लॉ की चित्रश्री दासगुप्ता उपाध्यक्ष निर्वाचित हुए। उन्होंने सेंटर फॉर लैंग्वेज के गौतम कुमार झा और पूनम कुमारी को पराजित किया। कुल वोट 518 पड़े जिसमें श्री सूद को 359 मत मिले, जबकि श्री पुनिया को 152 वोट मिले। जेएनयू मुख्य चुनाव अधिकारी द्वारा शुक्रवार शाम जारी विज्ञप्ति के अनुसार, सचिव पद पर सेंटर फॉर इनफॉर्मल सेक्टर के अविनाश कुमार ने इंटरनेशनल स्टडीज के प्रवेश कुमार को हराया। संयुक्त सचिव पद पर स्कूल ऑफ आर्ट के अमित परमेश्वरन और स्कूल ऑफ लैंग्वेज के परनाल चिरमुले ने स्कूल ऑफ लैंग्वेज के मोहम्मद अजमल और स्कूल ऑ$फ कम्प्यूटेशनल एंड इंटरग्रेटिव साइंस के अनिर्बान चक्रवर्ती को हराया। कोषाध्यक्ष पद पर स्कूल ऑ$फ लैंग्वेज के राकेश कुमार विजयी हुए। उन्होंने अर्णव भट्टाचार्य को हराया। स्कूल प्रतिनिधि के 15 सदस्यों में से नौ निर्विरोध चुने गए। इससे पहले भी शिक्षक संघ के सभी पद वामपंथी शिक्षकों के पास ही थे। पिछले कुछ वर्षों से जेएनयू में वामपंथी शिक्षकों का टकराव प्रशासन से लगातार बढ़ता जा रहा है ऐसे में उनकी यह जीत उनके लिए बहुत मायने रखती है।

Share it
Top