किसान फसल अवशेष न जलायें : राधामोहन

किसान फसल अवशेष न जलायें : राधामोहन

नयी दिल्ली। कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने पर्यावरण और मानव स्वास्थ्य को हो रहे नुकसान के मद्देनजर किसानों से फसलों के अवशेष नहीं जलाने का अनुरोध करते हुए आज कहा कि इसे मिट्टी में मिला देने से जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़ती है।

श्री सिंह ने कृषि मंत्रालय की ओर से कृषि अवशेषों से ऊर्जा तैयार करने को लेकर यहां आयोजित सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषि अवशेषों को मिट्टी में मिलाने की मशीनों की खरीद पर किसानों को 50 से 80 प्रतिशत तक की सब्सिडी दी जाती है। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में बड़े पैमाने पर कचरा तैयार होता है जिनमें से 70 प्रतिशत का उद्योगों तथा घरों में जलावन के रुप में इस्तेमाल होता है जबकि शेष अवशेष से जैविक ईंधन और ऊर्जा तैयार किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि फसल अवशेषों को जलनो से जहरीली गैस निकलती है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसके साथ ही जलने से मिट्टी की उर्वरा शक्ति कम हो जाती है। उन्होंने कहा कि पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में मशीनों की खरीद पर सब्सिडी के लिए 1151 करोड़ रुपये से अधिके का प्रावधान किया गया है।

Share it
Top