खतरे के निशान से ऊपर बह रही मीठी नदी, सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए 1300 लोग

खतरे के निशान से ऊपर बह रही मीठी नदी, सुरक्षित स्थान पर पहुंचाए गए 1300 लोग


- लोकल सेवा ठप, दादर में स्वामीनारायण मंदिर समेत कई इलाके जलमग्र

मुम्बई- मुम्बई में भारी बारिश से मीठी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। पोयसर नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है। आस-पास के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं। क्रांतिनगर, दादर और परेल के निचले इलाकों में पानी भर गया है। क्रांतिनगर से 1300 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। एनडीआरएफ की टीम राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई है।

भारी बारिश की वजह से मुम्बई महानगर की लाइफ लाइन कही जाने वाली लोकल ट्रेन की तीनों सेवाएं ठप हैं। विरार में पटरी में तकनीकी गड़बड़ी की वजह से सुबह से ही विरार-वसई लोकल सेवा ठप है। नालासोपारा से विरार तक रेलवे पटरी जलमग्र हो गई है। मध्य रेलवे में ठाणे, कांजुरमार्ग से कुर्ला तक तथा किंग सर्कल माटुंगा, सायन में रेल पटरी जलमग्न है। मध्य रेलवे की लोकल सेवा पूरी तरह ठप हो गई है। नवी मुम्बई में भी जोरदार बारिश की वजह से हार्बर रेल सेवा ठप हो गई है। इससे सुबह काम पर गए मुम्बई वासियों को पटरी पर पैदल चलते हुए घर वापस आना पड़ रहा है। मुंबई में मीठी नदी व पोयसर नदी का जलस्तर बढ़ने से कई सोसाइटियों व झोपड़पट्टियों में बारिश का पानी घुस गया है। देवनार व चेंबूर में भगवान गणेश के मंडप भी जलमग्र हो गए हैं। एयहतियात के तौर पर गणेश मंडपों की बिजली काट दी गई है।

बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के सभी रास्ते जलमग्न हैं। कुर्ला-एलबीएम मार्ग, जोगेश्वरी-विक्रोली लिंक मार्ग जलमग्न हैं। अंधेरी, पवई, लालबाग, परेल, हिंदमाता, महालक्ष्मी, किंगसर्कल मालाड, कांदिवली, बोरीवली, मीरारोड आदि इलाके भी जलभग्न हैं। बेस्ट उपक्रम की सेवा भी बाधित हुई है। जलभराव की वजह से सड़कों पर वाहनों की लंबी कतारें लगी हुई हैं। अभी तक किसी भी तरह की जनहानि की खबर नहीं है। मुम्बई में एनडीआरएफ की टीम, बीएमसी के कर्मचारी जलनिकासी के कार्य में लगे हुए हैं।

मुंबई से सटे ठाणे, नवी मुंबई, पालघर जिले में भी लगातार बारिश का कहर जारी है। पालघर जिले में वसई, नालासोपारा व विरार में कई इमारतों में बारिश का पानी घुस गया है। नालासाोपरा स्टेशन के पास आचोले रोड पूरी तरह से जलमग्र हो गया है।

Share it
Top