पालघर लोकसभा उप चुनाव: मुख्यमंत्री के साम दाम दंड भेद का ऑडियो सुनाया गया

पालघर लोकसभा उप चुनाव: मुख्यमंत्री के साम दाम दंड भेद का ऑडियो सुनाया गया


मुंबई। मुंबई से सटे पालघर में 28 मई को लोकसभा के उप चुनाव भारतीय जनता पार्टी और शिव सेना के लिए सम्मान का प्रश्न बन गया है और दोनों ही पार्टियां अपनी पूरी ताकत जीतने के लिए लगा रही हैं और शब्द बाण चलाये जा रहे हैं। शिव सेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने यहां की एक चुनावी रैली में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का एक कथित ऑडियो लोगों को सुनाया जिसमें फडनवीस साम-दाम-दंड-भेद यानि कि किसी भी तरीके से पालघर चुनाव जीतने की बात अपने कार्यकर्ताओं से कहते सुनाई दे रहे हैं। इसके बाद श्री ठाकरे ने बीजेपी पर वोटों की खरीदारी करने और जमकर धनबल का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।
साथ ही जनता से यह अपील भी की कि इस चुनावी युद्ध में वो शिवसेना का साथ दें। गौरतलब है कि इस कथित ऑडियो में देवेंद्र फडणवीस ने भाजपा कार्यकर्ता से कहा कि "मैं आपसे विनती करता हूं कि ये चुनाव नहीं बल्कि प्रचंड लड़ाई है, जिसके खून में भाजपा है, वो चुप नहीं बैठ सकता हमें विश्वासघात करने वालों को जवाब देना है ताकि उन्हें पता चले कि भाजपा क्या है। हमें किसी भी तरह से यह चुनाव जीतना है। साम, दाम, दंड, भेद जैसे भी चुनाव जीतकर विश्वासघातियों को जवाब देना है। "
पालघर सीट पर भाजपा सांसद चिंतामणि वनगा की मृत्यु के बाद उप-चुनाव कराया जा रहा है। भाजपा ने जहां राजेन्द्र गवित को टिकट देकर उप-चुनाव में उतारा है, वहीं शिवसेना ने चिंतामणि वनगा के बेटे श्रीनिवास वनगा को अपना उम्मीदवार बनाकर चुनाव में खड़ा कर दिया है और इसी को लेकर भाजपा शिवसेना पर विश्वासघात का आरोप लगा रही है। पालघर सीट पर उत्तर भारतीयों की संख्या काफी ज्यादा है, जिसके दम पर भाजपा इस सीट पर जीत को लेकर आशान्वित है और इसी वजह से भाजपा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस सीट पर चुनाव प्रचार में उतारा था। जबकि शिवसेना इस सीट पर सहानुभूति के आधार पर जीत का दावा कर रही है।


Share it
Top