अंगदान से दो लोगों को मिली नई जिंदगी

अंगदान से दो लोगों को मिली नई जिंदगी

पुणे। पुणे के रूबी हॉल अस्पताल में दिमागी रूप से मृत ( ब्रेन डेड) महिला के अंगदान से दो लोगों को नयी जिंदगी मिल गयी। अस्पताल के डाक्टरों के अनुसार महिला का फेफड़ा हवाई जहाज से चेन्नई और हृदय को मुंबई पहुंचाया गया जहां इनका सफल प्रत्यारोपण हुआ। 16 अगस्त को गिरने के कारण 22 वर्षीय इस महिला के सिर में गंभीर चोट आई थी। इसके बाद उसके परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों ने उसे दिमागी रूप से मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों के प्रेरित करने पर उसके पति तथा अन्य रिश्तेदार अंगों को दान करने के लिए सहमत हो गए। इसके बाद उसके एक फेफड़े को निकालकर गुरुवार को पुणे से चेन्नई के ग्लेनिगल्स ग्लोबल हॉस्पीटल ले जाया गया और उसका सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया। महिला के हृदय को मुंबई के मुलुंड स्थित फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया। इसके लिए यहां ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया था ताकि उसे जल्द से जल्द अस्पताल तक पहुंचाया जा सके। फोर्टिस अस्पताल में हृदय को 24 वर्ष के एक छात्र के शरीर में प्रत्यारोपित किया गया।

Share it
Top