राकांपा विधायक के कारखाने पर आयकर विभाग का छापा

राकांपा विधायक के कारखाने पर आयकर विभाग का छापा


मुंबई। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के विधायक और कोल्हापुर जिला बैंक के अध्यक्ष हसन मुश्रीफ के ठिकानों पर आयकर विभाग ने गुरुवार को छापा मारा है। आयकर विभाग ने राकांपा विधायक के साथ ही उनके बेटे व रिश्तेदारों के घर और शुगर मिल पर छापेमारी की है। मुश्रीफ बुधवार को मुंबई में ही थे। वह गुरुवार सुबह कागल में अपने निवास पर पहुंचे। आयकर विभाग ने उनकी साली के पति के घर पर भी छापा मारा है। पुणे स्थित उनके बेटे के घर पर भी छापेमारी की गई है। फिलहाल आयकर विभाग से छापे की विस्तृत जानकारी नहीं मिली है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरुवार की सुबह जब राकांपा विधायक मुश्रीफ अपने निवास स्थान पर थे, उसी समय आयकर विभाग की टीम वहां पहुंची और छापेमारी शुरू की। आयकर विभाग की एक टीम ने सांगली, कोल्हापुर, पुणे, सोलापुर, सातारा और ठाणे जिलों में छापेमारी की है। इस छापेमारी से शहर में खलबली मच गई है. विपक्ष ने इस छापेमारी को लेकर सत्तारूढ़ दल पर बदले की भावना से कार्रवाई का आरोप लगाया है। उसका आरोप है कि मुश्रीफ के घर, उनके शक्कर कारखाने और उनके रिश्तेदारों के यहां की गई छापेमारी राजनीति से प्रेरित होकर की गई है।

उल्लेखनीय है कि कोल्हापुर जिला मध्यवर्ती बैंक प्रशासन की ओर से 98 लाख रुपये फसल कर्ज माफी घोटाला मामले में दो निरीक्षकों को निलंबित कर दिया है। निरीक्षकों के नाम के. बी. पाटील और मुकेश पाटील बताया गया है। इन लोगों ने पन्हाळा तालुका की एक सेवा सोसायटी में दस लाख रुपये और हातकणंगले तालुका की दत्तसेवा सोसायटी में 88 लाख रुपये के घोटाले कि जांच में लापरवाही बरती थी।


Share it
Top