और बढ़ा पीएनबी घोटाले का दायरा...बैंक ने कहा- 11,700 करोड़ का नहीं, 12,700 करोड़ का हुआ फर्जी लेन-देन

और बढ़ा पीएनबी घोटाले का दायरा...बैंक ने कहा- 11,700 करोड़ का नहीं, 12,700 करोड़ का हुआ फर्जी लेन-देन

मुम्बई। देश के दूसरे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक पंजाब नेशनल बैंंक (पीएनबी) ने बताया है कि सेलेब्रेटी ज्वेलरी डिजाइनर नीरव मोदी ने 11,700 करोड़ रुपये का नहीं, बल्कि करीब 12,700 करोड़ रुपये का फर्जी लेन-देन किया है।
पीएनबी ने देर रात बीएसई को यह जानकारी दी कि इस फर्जी लेनदेन में 204.25 मिलियन डॉलर यानी करीब 1,300 करोड़ रुपये की राशि बढऩे की संभावना है। यह दूसरी बार है, जब पीएनबी ने घोटाले की अनुमानित राशि बढायी है। पीएनबी ने प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर अपने निदेशक मंडल और बीएसई तथा एनएसई को पांच फरवरी को 280.70 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की जानकारी दे दी। लेकिन, आगे की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद यह राशि बढाकर 11,394.02 करोड रुपये (1.77 अरब डॉलर) की गई। इसी के बाद 13 फरवरी की शाम को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में एफआईआर दर्ज कराया गया और अगले दिन 14 फरवरी की सुबह दोनों शेयर बाजारों को इस बाबत जानकारी दी गयी। पीएनबी की इस घोषणा के बाद बीएसई में उसके शेयरों ने तेज गोता लगाया। फिलहाल बैंक के शेयर 11.53 प्रतिशत टूटकर 20 माह के निचले स्तर पर आ गये हैं। इस मामले में कथित रूप से संलिप्त गीतांजलि जेम्स के शेयर 4.87 फीसदी लुढ़के हैं। इसी बीच नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार डायमंड इंक ने आपूर्ति श्रृंखला की चुनौतियों और तरलता का हवाला देते हुए अमेरिका के न्यूयॉर्क में दिवालिया होने की अपील दायर की है।

Share it
Top