कम भाव पर हुई लिवाली से बाजार में लौटी रौनक

कम भाव पर हुई लिवाली से बाजार में लौटी रौनक


मुंबई : वैश्विक स्तर से मिले सकारात्मक संकेतों और घरेलू स्तर पर मंगलवार की बड़ी गिरावट के बाद निचले भाव पर हुई लिवाली से आज शेयर बाजार तेजी में लौटने में कामयाब रहे।
चौतरफा लिवाली के बीच बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.77 प्रतिशत यानी 244.36 प्रतिशत की तेजी के साथ 31,955.35 अंक पर पहुँच गया।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 0.74 प्रतिशत यानी 72.45 अंक की बढ़त में 9,899.60 अंक पर बंद हुआ।
गत दिवस आईटीसी के शेयर करीब 13 प्रतिशत टूटने के दबाव में निफ्टी में चार महीने और सेंसेक्स में आठ माह की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गयी थी।
शेयर बाजार में आज निवेश धारणा सकारात्मक रही।
बीएसई के सभी 20 समूहों के सूचकांक हरे निशान में रहे।
दूरसंचार में तीन प्रतिशत से ज्यादा की तेजी रही।
धातु समूह में और स्वास्थ्य समूहों में भी करीब दो प्रतिशत की बढ़त देखी गयी।
सेंसेक्स की 30 में से 24 कंपनियों के शेयरों में लिवाली और शेष छह में बिकवाली का जोर रहा।
भारती एयरटेल के शेयर सबसे ज्यादा करीब सवा तीन प्रतिशत चढ़े।
कोल इंडिया में ढाई प्रतिशत से ज्यादा की बढ़त रही।
गत दिवस 12.63 प्रतिशत लुढ़कने के बाद आज कम कीमत पर आईटीसी के शेयरों में भी निवेशक लिवाल रहे।
इसके शेयरों के दाम करीब ढाई प्रतिशत चढ़ गये।
सबसे ज्यादा गिरावट इंफोसिस में रही।
मजबूत वैश्विक संकेतों के बीच सेंसेक्स 171.81 अंक की बढ़त में 31,882.80 अंक पर खुला।
शुरुआती कारोबार में ही 31,793.72 अंक के दिवस के निचले स्तर को छूने के बाद इसका ग्राफ धीरे-धीरे, लेकिन लगातार, ऊपर की ओर बढ़ता रहा।
कारोबार की समाप्ति से पहले 31,978.89 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह गत दिवस की तुलना में 244.36 अंक ऊपर 31,955.35 अंक पर बंद हुआ।
निफ्टी का ग्राफ भी कमोबेश सेंसेक्स जैसा ही रहा।
यह 28.80 अंक चढ़कर 9ख्855.95 अंक पर खुला।
कारोबार के दौरान 9,851.65 अंक के दिवस के निचले और 9,905.05 अंक के उच्चतम स्तर से होता हुआ यह गत दिवस के मुकाबले 72.45 अंक की बढ़त में 9,899.60 अंक पर रहा।
मंझोली और छोटी कंपनियों में ज्यादा तेजी रही।
बीएसई का मिडकैप 1.01 प्रतिशत की तेजी के साथ 15,258.83 अंक पर और स्मॉलकैप 0.99 प्रतिशत मजबूत होकर 15,974.57 अंक पर बंद हुआ।
बीएसई में कुल 2,853 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ।
इनमें से 1,714 कंपनियों के शेयर बढ़त में और 971 कंपनियों के गिरावट में रहे।
अन्य 168 कंपनियों के शेयर उतार-चढ़ाव में रहे।


Share it
Share it
Share it
Top