तिमाही परिणामों पर निर्भर करेगी शेयर बाजार की चाल

तिमाही परिणामों पर निर्भर करेगी शेयर बाजार की चाल


मुंबई। मानसून की अच्छी प्रगति, महँगाई के आँकड़ों में नरमी और कंपनियों के अच्छे तिमाही परिणामों की उम्मीद में बीते सप्ताह घरेलू शेयर बाजार पाँच में से चार कारोबारी दिवस पर नये रिकॉर्ड बनाने में कामयाब रहे। बीएसई के सेंसेक्स पहली बार 32 हजार अंक के पार जाने में सफल रहा और 2.10 प्रतिशत यानी 660.12 अंक की साप्ताहिक बढ़त के साथ 32,020.75 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 2.28 प्रतिशत यानी 220.55 अंक की तेजी के साथ सप्ताहांत पर 9,886.35 अंक पर बंद हुआ। आने वाले सप्ताह में बाजार की दिशा मुख्यत: कंपनियों के तिमाही परिणामों से तय होगी। सप्ताह के दौरान केनरा बैंक, बजाज ऑटो, कोटक महिंद्रा बैंक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, विप्रो, अशोक लेलैंड, इंडियन बैंक, जम्मू एंड कश्मीर बैंक और विजया बैंक के परिणाम आने हैं। कुल मिलाकर आर्थिक मोर्चों पर संकेत निवेश के अनुकूल हैं और निवेश धारणा सकारात्मक बनी हुई है। गत सप्ताह पहले चार दिन बाजार में तेजी रही और दोनों प्रमुख शेयर बाजारों ने नया कीर्तिमान बनाया जबकि शुक्रवार को अंतिम कारोबारी दिवस पर इनमें मामूली गिरावट रही। सप्ताह के दौरान विदेशी बाजारों का रुख भी सकारात्मक रहा जिससे घरेलू बाजारों को मदद मिली। सोमवार को सेंसेक्स 1.13 प्रतिशत यानी 355.01 अंक की मजबूती के साथ 31,715.64 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.01 प्रतिशत यानी 97.25 अंक की बढ़त में 9,763.05 अंक पर बंद हुआ जो इनका नया रिकॉर्ड स्तर था। अगले तीन दिन बाजार ने लगातार अपने रिकॉर्ड को और ऊँचा किया। मंगलवार को सेंसेक्स 31.45 अंक और बुधवार को 57.73 अंक चढ़ गया। गुरुवार को सेंसेक्स पहली बार 32 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर को पार कर गया। यह 0.73 प्रतिशत यानी 232.56 अंक की छलाँग लगाकर 32,037.38 अंक पर बंद हुआ। नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.77 प्रतिशत यानी 75.60 अंक की तेजी के साथ 9,891.70 अंक पर पहुँच गया। यह दोनों का अब तक का रिकॉर्ड स्तर है। हालाँकि, शुक्रवार को मुनाफावसूली के दबाव में सेंसेक्स 16.63 अंक और निफ्टी 5.35 अंक टूट गया।

Share it
Top