शेयर बाजार की तेजी पर ब्रेक

शेयर बाजार की तेजी पर ब्रेक


मुम्बई । विदेशी बाजारों से मिले मिश्रित संकेतों के बीच टीसीएस के तिमाही परिणाम से पहले निवेशकों के सतर्कता बरतने और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में आये उबाल से कमजाेर हुई निवेश धारणा के कारण घरेलू शेयर बाजार लगातार चार दिन की बढ़त खोते हुये गुरुवार को लाल निशान में बंद हुये, बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 106.41 अंक लुढ़ककर 36,106.50 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 23.65 अंक फिसलकर 10,821.60 अंक पर बंद हुआ।

अमेरिका-चीन के बीच विवाद के सुलझने की संभावना से समर्थन पाकर सेंसेक्स बढ़त के साथ 36,258.00 अंक पर खुला। शुरुआती पहर में यह 36,269.31 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुँचा। इसके बाद बाजार में बिकवाली हावी हो गयी। बुधवार को कच्चा तेल करीब पाँच फीसदी महँगा हो गया। गुरुवार को भी इसके दाम बढ़े जिससे निवेशकों के बीच हताशा रही। इससे सेंसेक्स 36,070.76 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 0.29 प्रतिशत की गिरावट में 36,106.50 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से मात्र 13 कंपनियाँ हरे निशान में रहीं।

निफ्टी भी बढ़त लेता हुआ 10,859.35 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर रहा। कारोबार के दौरान यह 10,801.80 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़कता हुआ अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.31 फीसदी उतरकर 10,821.60 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 30 कंपनियाँ गिरावट में और 20 तेजी में रहीं।

दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा और छोटी और मंझोली कंपनियों में तेजी का रुख रहा। बीएसई का मिडकैप 0.49 प्रतिशत यानी 74.80 अंक की तेजी में 15,196.40 अंक पर और स्मॉलकैप 0.19 प्रतिशत यानी 27.27 अंक की बढ़त के साथ 14,628.24 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,754 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,373 में गिरावट और 1,227 में तेजी रही जबकि 150 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित बंद हुये।

यूरोपीय बाजारों में तेजी का और एशियाई बाजारों में मिलाजुला रुख रहा। एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट 0.36, जापान का निक्की 1.29 और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.07 प्रतिशत की गिरावट में रहा जबकि हांगकांग के हैंगशैंग में 0.22 प्रतिशत की तेजी रही। यूरोपीय बाजारों में ब्रिटेन का एफटीएसई 0.15 और जर्मनी का डैक्स 0.33 प्रतिशत की गिरावट में रहा।

बीएसई के 20 समूहों में आठ समूह के सूचकांक गिरावट में रहे जबकि 12 में तेजी रही। बेसिक मैटेरियल्स के सूचकांक में 0.08, सीडीजीएस में 0.09, एफएमसीजी में 0.07, स्वास्थ्य में 0.47, इंडस्ट्रियल्स में 0.46, आईटी में 0.13, यूटिलिटीज में 0.45, ऑटो में 0.28, पूंजीगत वस्तु में 0.38, सीडी में 0.71, बिजली में 0.31 और टेक में 0.11 प्रतिशत की तेजी रही। इसके अलावा ऊर्जा के सूचकांक में 0.52, वित्त में 0.44, दूरसंचार में 0.10, बैंकिंग में 0.75, धातु में 0.14, तेल एवं गैस में 0.81, रिएल्टी में 0.11 और पीएसयू में 0.32 प्रतिशत की गिरावट रही।

सेंसेक्स की 30 कंपनियों में 13 हरे निशान में रहीं। टाटा मोटर्स में 1.34, एनटीपीसी में 1.13, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 0.99, बजाज ऑटो में 0.86, भारती एयरटेल में 0.63, इंफोसिस में 0.58, एलएंडटी में 0.36, वेदांता में 0.21, हिंदुस्तान यूनीलीवर में 0.21, टाटा स्टील में 0.20, यस बैंक में 0.16, कोल इंडिया में 0.04 और टीसीएस में 0.02 प्रतिशत की तेजी रही।

इंडसइंड के शेयरों के दाम 2.36 फीसदी टूट गये। कोटक बैंक में 1.42, ओएनजीसी में 1.37, मारुति में 1.07, एक्सिस बैंक में 1.05, एचडीएफसी में 0.89, हीराे मोटोकॉर्प में 0.86, सन फार्मा में 0.79, पावर ग्रिड में 0.76, आईसीआईसीआई बैंक में 0.60, एचसीएल टेक में 0.46, आईटीसी में 0.40, बजाज फाइनेंस में 0.37, एशियन पेंट्स में 0.34, एचडीएफसी बैंक में 0.30, रिलायंस में 0.25 और भारतीय स्टेट बैंक में 0.13 प्रतिशत की गिरावट रही।

Share it
Top