डिजिटल गोल्ड की उपलब्धता पूरे देश में बढ़ाने की तैयारी

डिजिटल गोल्ड की उपलब्धता पूरे देश में बढ़ाने की तैयारी

नयी दिल्ली। कीमती धातु रिफाइन करने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी एमएमटीसी-पीएएमपी और पेटीएम ने डिजिटल गोल्ड की उपलब्धता पूरे देश में बढ़ाने की योजना के तहत अब तक 17 हजार से अधिक पिन कोड पर सोना डिलीवर करने की व्यवस्था की है।
दो महीने पहले पेटीएम गोल्ड की पेशकश की गयी थी और अब तक इसे मिले प्रतिसाद से उत्साहित होकर कंपनी पूरे देश में इसकी उपलब्धता बढ़ाने पर काम कर रही है। पेटीएम ने कहा है कि उनके वॉलेट पर मिलने वाला यह गोल्ड शीघ्र ही देश के हर नुक्कड़ और कॉर्नर पर मिलेगा।
एमएमटीसी-पीएएमपी में स्ट्रेटजी और डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन के प्रमुख अर्जुन राय चौधरी ने कहा कि पेटीएम गोल्ड का उद्देश्य वास्तविक वित्तीय समावेशन का है, जहां प्रत्येक भारतीय सरल और पारदर्शी तरीके से अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता वाला सोना खरीद सकता है। फिर चाहे वह उस पर कितना भी खर्च कर रहा हो। यह भारतीय उपभोक्ता के सोना खरीदने के तरीकों में बदलावों की ओर एक कदम है।
पेटीएम ने कहा कि हर आदमी में बचत की आदत विकसित करने के उद्देश्य से डिजिटल गोल्ड में न्यूनतम एक रुपये का भी निवेश किया जा सकता है। कंपनी ने कहा कि शुद्धता, सुरक्षा, रखरखाव के ज्यादा खर्च और लॉकर्स के लिए लंबी वेटिंग अवधि से जुड़ी चिंताओं की वजह से ज्यादा से ज्यादा ग्राहक अब पेटीएम गोल्ड की ओर आकर्षित हो रहे हैं क्योंकि इसमें हाजिर सोना डिलीवरी लेने का भी विकल्प है।
पेटीएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष कृष्ण हेगड़े ने कहा कि ऑफलाइन सोना खरीदने में मेकिंग शुल्क समेत अन्य मदों पर अतिरिक्त पैसा खर्च करना पड़ता है। इतना ही नहीं, न्यूनतम मात्रा खरीदने की शर्त भी होती है। इस वजह से कई आय वर्ग के लोग सोना कभी खरीद ही नहीं पाते लेकिन पेटीएम गोल्ड किफायती और सुविधाजनक भी है। विभिन्न आय वर्गों के परिवार पेटीएम गोल्ड में निवेश कर बचत कर रहे हैं।

Share it
Share it
Share it
Top