महँगाई के आँकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

महँगाई के आँकड़ों से तय होगी बाजार की दिशा

मुंबई। देश भर में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने तथा जून में मानसूनी बारिश सामान्य रहने से उत्साहित निवेशकों की लिवाली से बीते सप्ताह बीएसई का सेंसेक्स 1.41 प्रतिशत यानी 439.02 अंक की छलाँग लगाकर 31,360.63 अंक पर बंद हुआ। सप्ताह के दौरान इसने बंद स्तर का अब तक का नया रिकॉर्ड भी बनाया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 1.52 प्रतिशत यानी 144.90 अंक की साप्ताहिक बढ़त में 9,665.80 अंक पर बंद हुआ। मझौली और छोटी कंपनियों ने तो बड़ी कंपनियों को भी पीछे छोड़ दिया। बीएसई का मिडकैप सप्ताह के दौरान 2.03 प्रतिशत और स्मॉलकैप 2.72 प्रतिशत की बढ़त बनाने में कामयाब रहा।
आने वाले सप्ताह में बाजार की चाल महँगाई और औद्योगिक उत्पादन के आँकड़ों तथा कुछ दिग्गज कंपनियों के तिमाही परिणामों पर निर्भर करेगी। बुधवार को मई के औद्योगिक उत्पादन और जून की खुदरा महँगाई के सरकारी आँकड़े जारी होने हैं। शुक्रवार सुबह थोक महँगाई के आँकड़े आयेंगे। इसके अलावा गुरुवार को देश की सबसे बड़ी सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी टीसीएस, शुक्रवार को इंफोसिस और शनिवार को कोटक महिंद्रा बैंक के पहली तिमाही के वित्तीय परिणाम जारी होंगे। इसके अलावा मंगलवार को इंडसइंड बैंक और साउथ इंडियन बैंक के परिणाम भी आने हैं। बाजार पर इन सबका असर दिखेगा।
देश में एक जुलाई से जीएसटी लागू हुआ है। सेंसेक्स ने 300 अंक और निफ्टी ने 94.10 अंक की तेजी के साथ इसका स्वागत किया। विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेत का भी इसमें योगदान रहा।
मंगलवार को उत्तर कोरिया द्वारा अंतरमहादेशीय बैलेस्टिक मिसाइल के परीक्षण से वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों में गिरावट रही। घरेलू शेयर बाजार उतार-चढ़ाव से होते हुये मुनाफावसूली के दबाव में मामूली गिरावट में रहे। सेंसेक्स 11.83 अंक फिसल गया। बुधवार को भी बाजार में उतार-चढ़ाव बना रहा, लेकिन सेंसेक्स अंतत: 35.77 अंक की बढ़त बनाने में कामयाब रहा।
मजबूत निवेश धारणा के बीच गुरुवार को भी लिवाली जारी रही। सेंसेक्स 123.78 अंक की छलाँग लगाकर अब तक के रिकॉर्ड स्तर 31,369.34 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी भी 36.95 अंक चढ़कर एक महीने के उच्चतम स्तर 9,674.55 अंक पर रहा। शुक्रवार को बाजार पर वैश्विक बाजारों का दबाव रहा। इसके बावजूद सेंसेक्स 8.71 अंक और निफ्टी 8.75 अंक की मामूली गिरावट में क्रमश: 31,360.63 अंक और 9,665.80 अंक पर बंद हुआ।
बीएसई का मिडकैप 2.03 प्रतिशत अर्थात 297.29 अंक चढ़कर 14941.77 अंक पर और स्मॉलकैप 420.24 अंक अर्थात 2.73 फीसदी उछलकर 15830.76 अंक पर रहा।
बीएसई में बढ़त में रहने वाले समूहों में रियल्टी 5.54 प्रतिशत, धातु 3.41 प्रतिशत, एफएमसीजी 2.48 प्रतिशत, तेल एवं गैस 2.23 प्रतिशत, ऑटो 1.76 प्रतिशत, हेल्थकेयर 1.36 प्रतिशत, कैपिटल गूड्स 1.25 प्रतिशत, बैंकिंग 0.84 प्रतिशत, पावर 0.27 प्रतिशत और टेक 0.08 प्रतिशत शामिल है। गिरावट रहने वालों में आईटी 0.48 प्रतिशत शामिल है।
सेंसेक्स में शामिल कंपनियों में से अधिकांश में तेजी रही। महिंद्रा 2.04 प्रतिशत, मारूति सुजुकी 2.93 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 0.99 प्रतिशत, रिलायंस इंडस्ट्रीज 8.01 प्रतिशत, ल्यूपिन 5.35 प्रतिशत, आईटीसी 3.17 प्रतिशत, कोल इंडिया 2.81 प्रतिशत, स्टेट बैंक 2.41 प्रतिशतख् अदानी पोट््र्स 2.32 प्रतिशत, टाटा स्टील 1.74 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलीवर 1.72 प्रतिशत शामिल है।
गिरावट में रहने वालों में बजाज ऑटो 2.96 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 2.48 प्रतिशत, सिप्ला 1.50 प्रतिशत, टीसीएस 1.36 प्रतिशत और सन फार्मा 0.87 प्रतिशत शामिल है।

Tags:    bazar 
Share it
Top