सरकार ने मोन्सैंटो की रॉयल्टी में की 20 फीसदी की कटौती

सरकार ने मोन्सैंटो की रॉयल्टी में की 20 फीसदी की कटौती

नयी दिल्ली। सरकार ने अनुवांशिक रूप से संवद्र्धित (जीएम) कपास के बीजों के लिए अमेरिका की प्रमुख जैव प्रौद्योगिकी कंपनी मोन्सैंटो को दी जाने वाली रॉयल्टी में 20 फीसदी से अधिक की कटौती करने की आज घोषणा की।
इससे पहले सरकार ने वर्ष 2016 में मोन्सैंटों की रॉयल्टी में 70 फीसदी से अधिक की कटौती की थी, जिसके कारण कंपनी ने भारत से अपना कारोबार समेटने की चेतावनी दी थी। अमेरिकी कंपनी को केंद्र सरकार से अब एक और करारा झटका मिला है। कृषि मंत्रालय ने बताया कि मोन्सैंटो की रॉयल्टी में अब 20.4 प्रतिशत की और कटौती कर दी गयी है। मोन्सैंटों इंडिया के संयुक्त उपक्रम माह्यको मोन्सैंटों बायोटेक(इंडिया) के प्रवक्ता ने कहा यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज के आदेश में रॉयल्टी और घटा दी गयी है, जो अब खेती की लागत से 0.5 प्रतिशत से भी कम है। भारतीय कृषि के लिए कपास की खेती सफलता की कहानी रही है। जीएम कपास की बदौलत उत्पादन और निर्यात में तेज उछाल आया है।

Share it
Top