सेंसेक्स 156 अंक लुढ़का, निफ्टी 57 अंक टूटा

सेंसेक्स 156 अंक लुढ़का, निफ्टी 57 अंक टूटा

मुम्बई। अधिकतर विदेशी बाजारों में रही गिरावट के बीच पूंजीगत वस्तु एवं यूटिलिटीज समूह में हुई बिकवाली के दबाव में बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 156.28 अंक फिसलकर 35,853.56 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 57.35 अंक टूटकर 10,737.60 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स बढ़त के साथ 36,113.27 अंक पर खुला और शुरुआती पहर में 36,124.94 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। दिसंबर में थोक मूल्यों पर आधारित मुद्रास्फीति की दर आठ महीने के महीने के न्यूनतम स्तर 3.8 प्रतिशत पर पहुंचने की खबर से भी बाजार में कुछ देर सकारात्मक रही लेकिन इसके बाद जोरदार बिकवाली हावी हो गयी। चीन के निर्यात के कमजोर आंकड़ों से निवेशकों को वैश्विक आर्थिक विकास की गति सुस्त पडऩे की आशंका सताने लगी है। इसके अलावा अमेरिका में जारी शटडाउन भी निवेश धारणा के खिलाफ है। इन सबके बीच सेंसेक्स 35,691.75 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंतत: यह गत दिवस की तुलना में 0.43 फीसदी की गिरावट के साथ 35,853.56 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से मात्र छह कंपनियां हरे निशान में जगह बना पायीं।

निफ्टी भी मजबूती के साथ 10,807.00 अंक पर खुला और 10,808.00 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। बिकवाली के दबाव में यह 10,692.35 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़का और अंतत: गत दिवस की अपेक्षा 0.53 फीसदी गिरकर 10,737.60 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 38 कंपनियां गिरावट में रहीं जबकि 12 में तेजी रही।

दिग्गज कंपनियों की तरह छोटी और मंझोली कंपनियों में भी बिकवाली का दबाव देखा गया। बीएसई का मिडकैप 0.49 प्रतिशत यानी 74.88 अंक की गिरावट के साथ 15,102.15 अंक पर और स्मॉलकैप 0.44 प्रतिशत यानी 64.23 अंक की गिरावट में 14,536.14 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,714 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ जिनमें 1,487 में गिरावट और 1,031 में तेजी रही जबकि 196 कंपनियों के शेयरों के भाव अपरिवर्तित बंद हुये।

Share it
Top