शीघ्र सुधरेगी बैंकिंग क्षेत्र की सेहत: गोयल

शीघ्र सुधरेगी बैंकिंग क्षेत्र की सेहत: गोयल

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने खराब होती वित्तीय स्थिति की वजह से भारतीय रिजर्व बैंक के रडार पर आये 11 सरकारी बैंकों को बेहतर बनाने के लिए हरसंभव मदद करने का आश्वासन देते हुये आज कहा कि इस क्षेत्र को शीघ्र ही पटरी पर लाया जायेगा।
वित्त मंत्री अरुण जेटली के गुर्दा प्रत्यारोपण के मद्देजनर उनके पूरी तरह से स्वस्थ होने तक रेलमंत्री श्री गोयल को हाल में ही वित्त मंत्रालय का प्रभार सौंपा गया है। कार्यभार संभालने के बाद उन्होंने कल मंत्रालय के प्रमुख विभागों के सचिवों के साथ बैठक की थी और आज उन्होंने रिजर्व बैंक के रडार पर आये 11 बैंकों प्रमुखों के साथ बैठक की। इसमें वित्तीय सेवाओं के सचिव राजीव कुमार भी उपस्थित थे। बैठक के बाद श्री गोयल ने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र को शीघ्र ही पटरी पर लाया जायेगा।
घोटालों और जोखिम में फंसे ऋण की वजह से बैंकिंग क्षेत्र का अर्थव्यवस्था पर विपरीत प्रभाव पडऩे की आशंकायें जतायी जा रही है। इसके साथ ही रिजर्व बैंक ने भी इन 11 बैंकों को जोखिम की वजह से निगरानी वाली सूची में डाल दिया है।
श्री गोयल ने कहा कि बैंकिंग उद्योग के विकास को सुनिश्चित करने के साथ ही इस क्षेत्र में जिम्मेदारियों के उच्चतम स्तर का पालन किया जाना चाहिए क्योंकि सरकारी बैंकों से ऐसी उम्मीद की जाती है। उन्होंने कहा कि पूरे बैंकिंग तंत्र को पटरी पर लाने की प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि बैंकिंग क्षेत्र की स्थिति है वह मोदी सरकार को वर्ष 2014 में पूर्ववर्ती सरकार की देन है। मनमाने तरीके से ऋण दिये गये जिससे बैंकिंग क्षेत्र अभी दबाव में है और पिछले कुछ महीनों में बैंकिंग क्षेत्र में घोटालों का खुलासा हुआ जिससे बैंकों की छवि धुमिल हुयी है।
उन्होंने भरोसा जताया कि पूर्ववर्ती सरकार द्वारा धरोहर के रूप में दिये गये जोखिम भरा बैंकिंग क्षेत्र बहुत कम समय में इससे उबर जायेगा। उन्होंने कहा कि आठ बैंककर्मियों के बल पर हर एक बैंक पटरी पर आयेगा और यह एक केस स्टडी बनेगा। श्री गोयल ने कहा कि रिजर्व बैंक वर्ष 2014 से उचित बैंकिंग निगरानी कर रहा है और दिवालियों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है जबकि पूर्ववर्ती सरकार ने ऐसा नहीं किया था।
श्री गोयल ने कहा कि श्री जेटली के सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। कल उन्होंने श्री जेटली से भेंट की थी और उनसे मंत्रालय के कामकाज के लिए मार्गदर्शन लिया था। श्री जेटली ने उन्हें कुछ काम दिया है जिसे वह आगे बढ़ा रहे हैं।

Share it
Top