अच्छे मानसून के पूर्वानुमान से नौवें दिन चढ़ा सेंसेक्स

अच्छे मानसून के पूर्वानुमान से नौवें दिन चढ़ा सेंसेक्स

मुंबई। बेहतर आर्थिक आँकड़ों और अच्छे मानसून के पूर्वानुमान से आज घरेलू शेयर बाजार लगातार नौवें दिन चढ़ते हुये सात सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 0.26 प्रतिशत यानी 89.63 अंक की बढ़त में 34,395.06 अंक पर बंद हुआ जो 26 फरवरी के बाद का इसका उच्चतम स्तर है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.19 फीसदी यानी 20.35 अंक चढ़कर 27 फरवरी के बाद के उच्चतम स्तर 10,548.70 अंक पर रहा।
मौसम विभाग के सोमवार को जारी पहले पूर्वानुमान में कहा गया है कि इस साल लगातार चौथे वर्ष मानसून सामान्य रहेगा। इससे पहले महँगाई और औद्योगिक उत्पादन के आँकड़े भी सकारात्मक रहे थे। बैंकिंग के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज और आईटीसी जैसी दिग्गज कंपनियों के शेयरों में हुई लिवाली से बाजार को सबसे ज्यादा समर्थन मिला जबकि एक्सिस बैंक, इंफोसिस और एलएंडटी ने बाजार पर दबाव बनाया। सेंसेक्स 76.37 अंक चढ़कर 34,381.80 अंक पर खुला। हालाँकि, एशियाई बाजारों से मिले नकारात्मक संकेतों ने बाजार पर दबाव बनाया जिससे दोपहर बाद कुछ देर के लिए लाल निशान में जाते हुये यह 34,229.83 अंक के दिवस के निचले स्तर तक उतर गया। यूरोप में शेयर बाजारों के तेजी में खुलने से भारतीय बाजार को समर्थन मिला और कारोबार की समाप्ति से पहले 89.63 अंक की मजबूती के साथ 34,434.14 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर को छूने के बाद अंतत: यह 34,395.06 अंक पर बंद हुआ।
निफ्टी 28.95 अंक की बढ़त के साथ 10,557.30 अंक पर खुला। कारोबार के दौरान 10,495.65 अंक के दिवस के निचले और 10,560.45 अंक के उच्चतम स्तर को छूने के बाद यह 20.35 अंक की तेजी के साथ 10,548.70 अंक पर बंद हुआ। छोटी और मझौली कंपनियों में भी तेजी रही। बीएसई का मिडकैप और स्मॉलकैप 0.28 प्रतिशत की बढ़त में क्रमश: 16,780.41 अंक और 18,131.99 अंक पर रहा। बीएसई में कुल 2,803 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इनमें 1,392 कंपनियों के शेयर हरे और 1,252 के लाल निशान में बंद हुये जबकि 159 कंपनियों के शेयर अपरिवर्तित रहे।
वैश्विक स्तर पर एशियाई बाजारों पर दबाव रहा। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.15 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.83 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 1.99 प्रतिशत की गिरावट में रहा। जापान का निक्की 0.06 प्रतिशत चढ़कर बंद हुआ। यूरोपीय बाजारों में तेजी रही। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.27 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.84 प्रतिशत की बढ़त में रहा।
बीएसई के 20 से 14 समूह हरे और शेष छह लाल निशान में रहे। पावर समूह का सूचकांक सबसे ज्यादा 1.23 प्रतिशत चढ़ा। रियलिटी में 1.21 तथा एफएमसीजी, यूटिलिटीज और टिकाऊ उपभोक्ता उत्पाद में 1.05 प्रतिशत की तेजी रही। स्वास्थ्य, इंडस्ट्रियल्स, आईटी, ऑटो, पूँजीगत वस्तुओं और टेक समूहों में गिरावट रही।
सेंसेक्स की 30 में से 16 कंपनियों के शेयर लाल और शेष 14 के हरे निशान में रहे। पावरग्रिड के शेयर सबसे ज्यादा 2.94 प्रतिशत चढ़े। एनटीपीसी में 1.99, हिंदुस्तान यूनिलिवर में 1.83, आईसीआईसीआई बैंक में 1.50, आईटीसी में 1.23, भारती एयरटेल में 1.09, महिंद्रा एंड महिंद्रा में 1.05, एचडीएफसी में 1.03, कोल इंडिया और बजाज ऑटो दोनों में 0.88, एचडीएफसी बैंक में 0.79, रिलायंस इंडस्ट्रीज में 0.69, टाटा स्टील में 0.58 और डॉ. रेड्डीज लैब में 0.05 प्रतिशत की तेजी रही।
सबसे ज्यादा 1.78 प्रतिशत की गिरावट एक्सिस बैंक में रही। सनफार्मा के शेयर 1.27, अदानी पोट््र्स के 1.24, विप्रो के 1.14, मारुति सुजुकी के 0.80, यस बैंक के 0.77, हीरो मोटोकॉर्प के 0.74, इंफोसिस के 0.69, एलएंडटी के 0.64, टाटा मोटर्स के 0.60, टीसीएस के 0.59, भारतीय स्टेट बैंक के 0.44, कोटक महिंद्रा बैंक के 0.42, ओएनजीसी के 0.39, एशियन पेंट््स के 0.23 और इंडसइंड बैंक के 0.17 प्रतिशत टूटे।

Share it
Share it
Share it
Top