वित्तपोषक एजेंसियों ने आईएसए से नीति एवं जोखिम की अड़चने दूर करने को कहा

वित्तपोषक एजेंसियों ने आईएसए से नीति एवं जोखिम की अड़चने दूर करने को कहा

नयी दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय सौर ऊर्जा के सदस्य अफ्रीकी देशों ने सौर परियोजनाओं के लिए धनी देशों से सस्ती प्रौद्योगिकी और रियायती वित्त की मांग की जबकि अंतरराष्ट्रीय रिणदाता संस्थाओं ने स्पष्ट कहा है कि निवेश आकर्षित करने के लिए इन देशों को नीतिगत एवं जोखिम सम्बन्धी अड़चने दूर करने तथा पारदर्शी निविदा और डिजिटल प्लेटफार्म तैयार करने जैसे कदम उठाने पड़ेंगे। ग्रीन क्लाईमेंट फंड के कार्यकारी निदेशक होवार्ड बाम्से ने 11 मार्च को यहां समाप्त हुए आईएसए के स्थापना शिखर सम्मेलन में कहा कि विकासशील देशों खासकर छोटे देशों में निवेश में बडी बाधाएं हैं जोखिम को मुख्य अड़चन बताते हुए श्री बाम्से ने कहा कि यदि इन देशों को निवेश आकर्षित करना है तो उन्हें कारगर कानूनी प्रावधान करने होंगे। अंतरराष्ट्रीय अक्षय ऊर्जा एजेंसी के महानिदेशक अदान जेड अमीन का कहना था कि अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में 92 प्रतिशत निवेश निजी क्षेत्र से आ रहा है इसलिए भूमि अधिग्रहण तथा नियामक सम्बन्धी अडचनें दूर करने के लिए इन देशों को पारदर्शी एवं दीर्घकालिक नीतियां बनानी होंगी। उन्होंने ऑफ ग्रिड और मिनी ग्रिड के लिए बाजार तैयार करने की भी जरूरत बतायी।

Share it
Share it
Share it
Top