जीएसटी परिषद की अगली बैठक में कर के मुद्दों पर चर्चा संभव : सरना

जीएसटी परिषद की अगली बैठक में कर के मुद्दों पर चर्चा संभव : सरना

नई दिल्ली। केन्द्रीय उत्पाद एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीईसी) की प्रमुख वी. सरना ने कहा है कि वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की अगले माह होने वाली बैठक में विभिन्न उद्योगों से जुड़े संगठनों के कर के संबंध में उठाये गये मुद्दों पर चर्चा की जा सकती है। सुश्री सरना ने आज यहां भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल (फिक्की) के एक कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अगले माह जीएसटी परिषद की बैठक होनी है जिसमें कर दरों को लेकर विभिन्न क्षेत्रों से उठ रही मांगों पर विचार किये जाने की संभावना है। इसके अलावा बैठक में नयी कर प्रणाली लागू होने के बाद की स्थिति की भी समीक्षा भी होगी। यह पूछे जाने पर कि बैठक में कपड़ा क्षेत्र द्वारा जीएसटी कर की दर को लेकर जताई जा रही चिंता पर भी विचार हो सकता है, सुश्री सरना ने कहा कि यह संभव है। उन्होंने कहा कि जब जीएसटी जैसा कोई नया कर तंत्र अमल में आता है तो पहले छह महीने से लेकर एक साल तक कुछ समस्यायें या मुद्दे उठना लाजिमी है। मोदी सरकार ने आजादी के बाद सबसे बड़े आर्थिक सुधार के रूप में देखे जा रहे जीएसटी को 01 जुलाई से लागू किया है। जीएसटी में 17 विभिन्न करों को समाहित कर देश को एक कर, एक बाजार के रूप में स्थापित किया गया है। सुश्री सरना ने कहा कि विभाग जीएसटी के क्रियान्वयन के बाद राजस्व प्राप्ति पर निगाह रखे हुए है और वास्तविक स्थिति का पता सितम्बर में पहला विस्तृत रिटर्न भरे जाने के बाद ही चल सकेगा। इस सवाल पर कि जीएसटी के लागू होने के बाद सीमा शुल्क की आमदनी पर क्या असर है सुश्री सरना ने कहा कि सीमा शुल्क से कर प्राप्ति अच्छी है और इसमें उछाल देखा जा रहा है। केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली जीएसटी परिषद् की अगली बैठक 05 अगस्त को होनी है जिसमें नयी कर प्रणाली के लागू होने के बाद की स्थिति की समीक्षा की जायेगी।

Share it
Share it
Share it
Top