कंपनी कर में छूट से शेयर बाजार दिवाली से पहले हुआ रौशन

कंपनी कर में छूट से शेयर बाजार दिवाली से पहले हुआ रौशन

मुंबई। मंद पड़ती अर्थव्यवस्था को गति देने के उद्देश्य से कंपनी कर में सरकार द्वारा की गयी भारी भरकम कटौती के बल पर शेयर बाजार में एक दशक में सबसे बड़ी एकदिनी बढ़त दर्ज की गयी जिससे दिवाली से पहले ही बाजार रौशन हो गया।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1921.15 अंक उछलकर करीब एक दशक की सबसे बड़ी एक दिनी बढ़त लेकर 38 हजार अंक के मनोवैज्ञानिक स्तर के पार 38014.46 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 569.40 अंक उछलकर 11274.20 अंक पर पहुंच गया। बीएसई में मझौली कंपनियों में लिवाली अधिक रही जबकि छोटी कंपनियों में यह थोड़ी सुस्त रही। बीएसई का मिडकैप 6.28 प्रतिशत बढ़कर 14120.07 अंक पर और स्मॉलकैप 3.94 प्रतिशत बढ़कर 13204.25 अंक पर रहा।

सरकार ने सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्थ को गति देने के उद्देश्य से कंपनी कर में भारी कटौती करने की घोषणा की है जिससे सरकारी राजस्व पर 1.45 लाख करोड़ रुपये का भार पड़ेगा। घरेलू कंपनियों के लिए कंपनी कर को 30 फीसदी से कम कर 25.10 प्रतिशत और एक अक्टूबर से बनने वाली नयी कंपनियों के लिए इसे कम कर 17.10 प्रतिशत कर दिया गया है। इसके साथ ही नयी कंपनियों को न्यूनतम वैकल्पिक कर (मैट) से भी मुक्त कर दिया गया जबकि पुरानी घरेलू कंपनियों के लिए मैट को 18.5 प्रतिशत से कम कर 15 प्रतिशत कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त शेयरों की खरीद बचे पर चालू वित्त वर्ष में अमीरो पर लगाये गये अधिभार से बाहर किये जाने और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों को भी इससे राहत की घोषणा से भी बाजार को बल मिला।

बीएसई का सेंसेक्स 121 अंकों की बढ़त लेकर 36214.92 अंक पर खुला लेकिन वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की 10 बजे प्रस्तावित प्रेस वार्ता में विलंब होने के बाद बाजार पर दबाव बनने लगा जिससे यह 36085.75 अंक के निचले स्तर तक उतर गया। हांलाकि वित्त मंत्री के कंपनियों को कर में छूट देने की घोषणा करते ही जोरदार लिवाली शुरू हो गयी और सत्र के आखिरी चरण में लिवाली के बल पर सेंसेक्स 38378.02 अंक के उच्चतम स्तर तक पहुंच गया। हालांकि अंत में कुछ मुनाफावसूली हुयी जिससे यह पिछले दिवस के 36093.47 अंक की तुलना में 1921.15 अंक अर्थात 5.32 प्रतिशत उछलकर 38014.46 अंक पर रहा।

एनएसई का निफ्टी 42 अंकों की बढ़त लेकर 10746.80 अंक पर खुला। पहले चरण में ही यह 10691 अंक के निचले स्तर तक उतरा लेकिन इसके बाद शुरू हुयी लिवाली से यह 11381.90 अंक के उच्चतम स्तर तक गया। अंत में यह पिछले दिवस के 10704.80 अंक की तुलना में 569.40 अंक अर्थात 5.32 प्रतिशत बढ़कर 11274.20 अंक पर रहा। निफ्टी में 46 कंपनियां हरे निशान में और छह कंपनियां लाल निशान में रही।

बीएसई में कुल 2736 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1864 बढ़त में और 728 गिरावट में रही जबकि 93 में कोई बदलाव नहीं हुआ। इस जोरदार लिवाली के बावजूद बीएसई का आईटी समूह 1.09 प्रतिशत और टेक समूह 0.43 प्रतिशत की गिरावट में रहा। शेष सभी समूह बढ़त में रहे सबसे अधिक 9.85 प्रतिशत की तेजी ऑटो समूह में रही। इसके बाद बैंङ्क्षकग में 8.21 प्रतिशत और पूंजीगत वस्तुओं में 7.93 प्रतिशत की तेजी रही।

वैश्विक स्तर पर शेयर बाजार बढ़त में रहे लेकिन लिवाली सुस्त रही। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.12 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 0.11 प्रतिशत, जापान का निक्की 0.16 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 05.4 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.24 प्रतिशत की बढ़त में रहा जबकि हांगकांग का हैंगसेंग 0.13 प्रतिशत उतर गया।

सेंसेक्स में बढ़त में रहने वालों में हीरो मोटोकार्प 12.52 प्रतिशत, मारूति 10.89 प्रतिशत, इंड्सइंड बैंक 10.74 प्रतिशत, बजाज फाइनेंस 10.19 प्रतिशत, स्टेट बैंक 10.09प्रतिशत, महिंद्रा 9.53 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 9.06 प्रतिशत, टाटाएमटीआरडीवीआर 8.83 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलीवर 8.73 प्रतिशत, एल एंड टी 8.63 प्रतिशत, वेदांता 8.47 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 7.97 प्रतिशत, एशियन पेंट््स 7.59प्रतिशत, ओएनजसी 7.40 प्रतिशत, टाटा मोटर्स 7.36 प्रतिशत, टाटा स्टील 7.0 प्रतिशत, बजाज ऑटो 6.92 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 6.65 प्रतिशत, रिलायंस 6.42 प्रतिशत, कोटक बैंक 5.86 प्रतिशत, एयरटेल 4.62 प्रतिशत, एचडीएफसी 3.92 प्रतिशत, येस बैंक 2.40 प्रतिशत, सन फार्मा 0.74 प्रतिशत, आईटीसी 0.59 प्रतिशत और एचसीएलटेक 0.05 प्रतिशत शामिल है।

गिरावट में रहने वालों में पावरग्रिड 2.39 प्रतिशत, इंफोसिस 1.94 प्रतिशत, टीसीएस 1.74 प्रतिशत, एनटीपीसी 1.52 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 0.35 प्रतिशत शामिल है।

Share it
Top