रुपया ऐतिहासिक निचले स्तर पर

रुपया ऐतिहासिक निचले स्तर पर

मुंबई। कच्चे तेल की कीमतों में तेजी और दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की मजबूती से अंतरबैंकिग मुद्रा बाजार में रुपया लगातार दूसरे दिन टूटता हुआ मंगलवार को रिकॉर्ड निचले स्तर 72.69 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। भारतीय मुद्रा गत दिवस 71 पैसे लुढ़ककर 72.45 रुपये प्रति डॉलर पर रही थी। आज यह 24 पैसे और टूट गयी। कारोबार के दौरान एक समय यह अब तक के निचले स्तर 72.73 रुपये प्रति डॉलर तक भी लुढ़की थी।

घरेलू शेयर बाजार की आरंभिक तेजी के दम पर रुपया 13 पैसे चढ़कर 72.32 रुपये प्रति डॉलर पर खुला और शुरुआती कारोबार में ही 72.26 रुपये प्रति डॉलर के दिवस के उच्चतम स्तर पर पहुँच गया। इसके बाद एक तरफ शेयर बाजार में बिकवाली और दूसरी तरफ तेल आयातकों की ओर से अमेरिकी मुद्रा की माँग बढऩे से यह दबाव में आ गया। दोपहर से पहले 72.73 रुपये प्रति डॉलर बीच कारोबार के रिकॉर्ड निचले स्तर को छूने के बाद रुपया लाल निशान में सीमित दायरे में रहा। कारोबार की समाप्ति पर सोमवार के मुकाबले 24 पैसे लुढ़ककर यह 72.69 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। यह इसका अब तक का न्यूनतम बंद स्तर है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव करीब एक प्रतिशत बढ़कर 78 डॉलर प्रति बैरल के पार निकल जाने से आयातकों ने बाजार में डॉलर की खरीद ज्यादा की। इससे रुपये पर दबाव रहा। दुनिया की अन्य प्रमुख मुद्राओं के बास्केट में डॉलर में तेजी और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) के पूँजी बाजार से डॉलर निकालने से भारतीय मुद्रा पर दबाव बढ़ा। एफपीआई ने आज पूँजी बाजार से 17.92 करोड़ डॉलर निकाले।

Share it
Top