सेबी ने मांगा जवाब, ऑडिट कमिटी ने नतीजों पर मोहर नहीं लगाई, मुश्किल में जेट एयरवेज

सेबी ने मांगा जवाब, ऑडिट कमिटी ने नतीजों पर मोहर नहीं लगाई, मुश्किल में जेट एयरवेज


मुंबई। विमानन कंपनी जेट एयरवेज ने ऑडिट कमिटी की मंजूरी न मिल पाने से अपने नतीजे टाल दिए हैं| इसके बाद शेयर बाजार में उसके शेयर में भारी गिरावट देखी गई। एक ही दिन में उसका शेयर 8 फीसदी तक टूट गया। ऑडिट कमिटी ने जेट के नतीजों पर मुहर लगाने से इनकार कर दिया। हालांकि कंपनी ने नतीजे मंजूर नहीं होने की वजह नहीं बताई है।

जेट एयरवेज की ओर से पेश किए गए चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के नतीजों को ऑडिट कमिटी ने मंजूर नहीं किया| इसके बाद विमानन कंपनी की मुश्किल बढ़ गई है। कंपनी ने नतीजे मंजूर नहीं होने की वजह नहीं बताई है| न ही नतीजों की नई तारीख की घोषणा ही की है। इसके अलावा नतीजे नहीं आने से एक ही दिन में कंपनी के शेयरों में 8 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखी गई। इससे निवेशकों को भारी नुकसान हुआ है। कंपनी की ओर से कोई जानकारी नहीं दिए जाने से निवेशकों की भरपाई को लेकर भी बाजार में उथल-पुथल देखी गई। बीएसई पर कंपनी का शेयर 8.39 फीसदी गिरकर 276.40 रुपये पर और एनएसई पर 8.53 फीसदी घटकर 276 रुपये प्रति शेयर पर बंद हुआ।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने जेट एयरवेज के अप्रैल-जून तिमाही परिणामों की घोषणा में देरी के मामले में संज्ञान लिया है। इससे पहले बीएसई और एनएसई ने भी इस बाबत कंपनी से जानकारी देने को कहा है। बता दें कि गुरुवार को जेट एयरवेज के निदेशक मंडल की बैठक हुई थी, लेकिन कंपनी ने अपने तिमाही परिणामों की घोषणा नहीं की थी।

बताया जा रहा है कि विमानन कंपनी की ऑडिट समिति की ओर से वित्तीय वर्ष के परिणामों को लेकर दर्ज कराई गई आपत्ति के बाद नतीजे जारी करने में देरी के मामले में सेबी ने संज्ञान लिया है। सूचना के खुलासे या कंपनी के कामकाज से जुड़े नियमों (कारपोरेट गर्वनेंस) के संभावित उल्लंघन करने की शिकायत की गई है। इससे पहले बंबई शेयर बाजार (बीएसई) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) ने भी इस मामले में कंपनी से 'विशेष जानकारियां' उपलब्ध कराने के लिए कहा है। बीएसई और एनएसई ने इस जेट एयरवेज से जवाब मांगा है कि नतीजे टालने का फैसला किसने लिया है।

हिन्दुस्थान समाचार/ राधेश्याम / राजबहादुर/राधा रमण

Share it
Share it
Share it
Top