Read latest updates about "धर्म -अध्यात्म" - Page 3

  • पर्यटन: महाबलिपुरम् के बोलते पत्थर

    तमिलनाडु में कई प्राचीन स्मारक व अद्वितीय मूर्तियों वाले ऐतिहासिक मंदिर है। ऐसा ही एक शानदार पर्यटन स्थल है महाबलिपुरम्। महाबलिपुरम कोरोमंडल तट जो बंगाल की खाड़ी में है, पर स्थित है। इन मंदिरों का निर्माण 7००-728 के दौरान पल्लव राजवंश के महेन्द्रवर्मन् ने आरम्भ करवाया जिसे उसके पुत्र नरसिंहवर्मन ने...

  • इस अंगुली से मस्तक पर तिलक करना माना जाता है शुभ..

    हिंदू धर्म में मस्तक पर तिलक लगाने को बहुत ही शुभ माना जाता है और किसी भी शुभ कार्य को करते समय या पूजा के समय माथे पर तिलक लगाना आवश्यक माना जाता है। ये माना जाता है कि अगर आप किसी शुभ कार्य के लिए जा रहे हैं और जाने से पहले मस्तक पर तिलक लगा लेते हैं तो इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है जो...

  • सौ अश्वमेघ यज्ञ का फल मिलता है संगम में मौनी अमावस्या स्नान का

    दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुम्भ में पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और दृश्य सरस्वती के त्रिवणी में मौनी अमावस्या पर आस्था की डुबकी लगाने से सौ अश्वमेघ और राजसूय यज्ञ का फल मिलता है। रामचरित मानस में तुलसीदास लिखते हैं कि माघ मकर गति रवि जब होई, तीरथ पतिहि आव सब कोहि। एहि...

  • इस मंदिर के शि​वलिंग में महामृत्युंजय के रूप में विराजमान हैं भगवान शिव

    भगवान शिव की पूजा करने से व्यक्ति को सुख और शांति प्राप्त होती है, वहीं शास्त्रों के अनुसार अगर शिव के महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया जाए तो इससे व्यक्ति को अकाल मृत्यु के भय से छुटकारा मिलता है। आपको बता दें कि भगवान शिव का एक महामृत्युंजय मंदिर भी है, ये मंदिर मध्यप्रदेश के रीवा शहर में स्थित है।...

  • जानिए! क्यों इलायची को घर में रखना माना जाता है शुभ

    इलायची एक ऐसा मसाला है जिसे किसी भी व्यंजन में डालने से उसका स्वाद बढ़ जाता है। वहीं छोटी सी इलायची कई बीमारियां को दूर करने में भी सहायक होती है। आपको बता दें कि इलायची का वास्तुशास्त्र में भी बहुत महत्व है, शास्त्रों के अनुसार इसे घर में रखने से घर का वास्तुदोष दूर होता है। वास्तुशास्त्र में...

  • धर्म संस्कृति: रूद्राक्ष का माहात्म्य

    रूद्राक्ष पर पड़ी खड़ी धारियों को रूद्राक्ष का मुख कहा जाता है। रूद्राक्ष पर जितनी धारियां होंगी, वह उतने ही मुखी माना जाता है। रूद्राक्ष को तोडऩे पर वह अपने ऊपर अंकित धारियों में खरबूजे की फांकों की भांति टूट जाता है। जितने भागों में विभाजित होकर टूटता है, वह उतने मुखी रूद्राक्ष कहलाता है। चंूकि...

  • बोधगया में भगवान बुद्ध के पवित्र अस्थिकलश का प्रदर्शन 1 फरवरी से

    महाबोधि सोसायटी आॅफ इंडिया की बोधगया शाखा में एक फरवरी से तीन दिनों तक भगवान बुद्ध के पवित्र अस्थि कलश का सार्वजनिक प्रदर्शन होगा। इसकी जानकारी सोसायटी के महासचिव पी सीवली थेरो ने दी। उन्होंने बताया कि भगवान बुद्ध के अलावा उनके दो शिष्य सारिपुत्र व मोग्गलान के अस्थि कलश का भी सार्वजनिक प्रदर्शन...

  • जानिए ! घर में हंस की तस्वीर को लगाना होता है शुभ

    कुछ तस्वीरें ऐसी होती हैं जिन्हें घर में लगाना बहुत ही शुभ माना जाता है। ये तस्वीरें सुख और समृद्धि का प्रतीक होती हैं, जिस घर में ये तस्वीरें लगी होती हैं उस घर में धन संपदा की कमी नहीं होती है। वास्तुशास्त्र में भी इन तस्वीरों को बहुत महत्व दिया गया है। इन तस्वीरों को लगाने से घर से नकारात्मकता...

Share it
Top