अनमोल वचन

अनमोल वचन

किसी भी वस्तु, व्यक्ति को देखने, परखने में दृष्टिकोण का बहुत महत्व है। हमारा दृष्टिकोण जैसा होगा हम वैसा ही देखते, सुनते और समझ पाते हैं। यदि हमारे चश्मे पर धूल जमी हुई है तो हमें पूरी दुनिया ही धुंधली नजर आयेगी। जिस रंग का हमारा चश्मा होता है दुनिया भी वैसी ही दिखाई देती है। हम चाहकर भी वास्तविक दुनिया को नहीं देख सकते, जब तक कि अपने दृष्टिकोण (नजरिये) रूपी चश्मे को साफ नहीं कर लेते। दृष्टिकोण ही हमारे दखने का तरीका है। दृष्टिकोण के आधार पर ही हम जीवन में अपने कदम आगे बढाते हैं। नकारात्मक दृष्टिकोण जहां हमें सीमाओं में कैद करता है, हमारे लिए परेशानियां, मुसीबतें बढाता है, वही सकारात्मक दृष्टिकोण हमें सीमा मुक्त करता है, जीने की नई राहें दिखाता है, नई खुशियां देता है। सकारात्मक दृष्टिकोण के व्यक्ति को बाग में फलदार वृक्ष दिखाई देते हैं, खिलते हुए फूल दिखाई देते हैं, जबकि नकारात्मक दृष्टिकोण वाले को झाड-झकांड ही दिखाई देते हैं।

Share it
Top