अनमोल वचन

अनमोल वचन

हमें जीवन में केवल वर्तमान दीखता है। अतीत अदृश्य होता है, परन्तु यह अतीत समुद्र में डूबे हुए उस असीम शिलाखंड के समान होता है, जो अदृश्य तो होता है, परन्तु किसी भी जहाज से टकराने पर उसे चूर-चूर कर सकता है, जिसे आसानी से बिल्कुल भी तोडा नहीं जा सकता। अतीत उसी प्रकार हमारे जीवन में अदृश्य होते हुए भी अपना पूरा प्रभाव डालता है। हमारे जीवन में अनायास घटित होने वाली सभी घटनाओं का कारण अतीत होता है। सभी संयोगों का कारण भी अतीत होता है। हमारा अतीत भी उस फिल्म की भांति होता है, जिसका निर्माण हो चुका है और जिसे बदला नहीं जा सकता। हां फिल्म नष्ट की जा सकती है, परन्तु अतीत को मिटाया नहीं जा सकता। यदि उसे बदलना है, जो उसका एक मात्र समाधान वर्तमान में है, वर्तमान को सुधारने में है। वर्तमान को सुधार कर ही अतीत के दुष्कर्मों का प्रायश्चित सम्भव है, उसमें परिवर्तन सम्भव है। यदि अतीत गौरवशाली है, अच्छा है तो निश्चित ही उसका वर्तमान यश प्रदान करने वाला, सफलताएं दिलाने वाला, सुख सौभाग्य देने वाला होगा। यदि इसके विपरीत है तो उसका एक ही कारण है कि अतीत अच्छा नहीं रहा होगा। " रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

Share it
Top